ओ लेवल कंप्यूटर कोर्स क्या है ?

- Advertisement -

O Level Computer Course : नमस्कार, यदि आप ओ लेवल कंप्यूटर कोर्स के बारे में खोज रहे हैं तो कृपया ठहरीय ! आप एक ऐसी वेबसाइट पर है जहां इस लेख में ओ लेवल से संबंधित संपूर्ण जानकारी जैसे – O Level kaise kare ? O level ke fayde, Fees, Syllabus, Exam Pattern मिलेगी वह भी आसान शब्दों में.

यकीन मानिए यदि इस लेख को आप पूरा पढ़ते हैं तो आपको अन्य किसी वेबसाइट पर जाने की आवश्यकता नहीं होगी. आपके सारे प्रश्नों का जवाब आपको यहां मिल जाएगा और ओ लेवल कोर्स से संबंधित जानकारी एकत्र करने में यह लेख आपके लिए लाभकारी होगा.

ओ लेवल कोर्स क्या है ?

ओ लेवल कंप्यूटर कोर्स क्या है – What is O level Computer Course in Hindi ?

O Level एक Computer Course होता है जो कि Computer का Basic Application Course भी कहलाता है इसमें आपको सभी प्रकार की Applications के बारे में सिखाया जाता है. इसे करने के बाद आपको Computer Basics (softwares, internet, programming languages) इत्यादि की अच्छी जानकारी हो जाती है.

O Level का पूरा नाम Ordinary Level होता है यह एक Diploma Course होता है जो कि NATIONAL INSTITUTE OF ELECTRONICS AND INFORMATION TECHNOLOGY (NIELIT) की DOEACC Society द्वारा Organised किया जाता है।

O Level Course को करने के बाद इसके Certificate को आप किसी भी Private या Government job में Apply कर सकते हैं. आज सभी प्राइवेट कंपनी में जॉब के लिए कंप्यूटर डिप्लोमा मांगा जाता है जिसके लिए आप O level Certificate लगा सकते हैं।

यह तो रही ओ लेवल के बारे में बेसिक जानकारी, अब आगे हम इसके बारे में सब कुछ जैसे- O Level कैसे करें, O Level Exam, O Level Syllabus,  Benefits of O level Course जानेंगे.

ओ लेवल कोर्स के लिए आवेदन  – Apply for O Level Course

O Level कोर्स में Apply करने के 2 तरीके होते हैं। आप इन में से किसी भी प्रकार से ओ लेवल कोर्स कर सकते हैं :

♦Direct Online – इस कोर्स में आप Direct Online apply करके भी Admission ले सकते हैं। इसके लिए आपको Nielit.gov.in पर जाकर ओ लेवल कोर्स की एग्जाम का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। यह रजिस्ट्रेशन 5 साल तक Valid रहता है इसका मतलब यह हुआ कि आप 5 साल तक कभी भी अपने Account से login करके O Level की Exam के लिए apply कर सकते हैं।

यहां से आवेदन करें. APPLY

♦Trough Institute – दूसरा तरीका होता है किसी भी Computer Institute के द्वारा Admission लेकर Exam देना। इसके लिए आप किसी भी Institute में इस कोर्स के लिए एडमिशन ले सकते हैं और एग्जाम देकर कोर्स का सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते हैं. इसके लिए आपको किसी इंस्टिट्यूट के लिए अच्छी खासी Tuition Fee देनी होगी.

ओ लेवल कोर्स के लिए योग्यता –  Eligibility Criteria for O level Course 

जैसा कि मैंने आपको बताया ओ लेवल कोर्स एक डिप्लोमा कोर्स होता है जो कि आप 12th पास करने के बाद कर सकते हैं यह डिप्लोमा कोर्स 1 साल की अवधि का होता है जिसमें कि Semester System अपनाया जाता है. 1 साल के डिप्लोमा कोर्स में 2 सेमेस्टर होते हैं। O Level Course करने के लिए आपको 12th पास होना जरूरी होता है ।

इस कोर्स में Apply करने के लिए आप ITI certificate का इस्तेमाल भी कर सकते हैं यदि आपने 10th के बाद ITI (1 या 2 वर्षीय) किया है तो आप O Level Course के लिए Eligible होते हैं।

ओ लेवल कोर्स की फीस  – Fees of O Level Course 

O Level Exam के Registration के लिए ₹500 फीस लगती है उसके अलावा आपको Exam की फीस अलग से देना होती है अगर आप जनवरी में एग्जाम देना चाहते हैं तो उसका Registration  जुलाई से सितंबर तक के बीच में करा सकते हैं और यदि आप जुलाई में एग्जाम देना चाहते हैं तो जनवरी से मार्च तक उसका रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

यदि आप DIRECT ऑनलाइन कोर्स में अप्लाई कर रहे हैं तो उसके लिए आपको 3000 से ₹4000 तक की फीस देना होती है और अगर आप किसी इंस्टिट्यूट से यह कोर्स करते हैं तो उसके लिए आपको लगभग 15000 से ₹18000 की फीस देनी होती है।

ओ लेवल कोर्स का सिलेबस –  Syllabus of O Level Course 

जैसा कि मैंने आपको बताया यह एक इसके 2 Semester होते हैं जिसमें आपको Theory और Practical दोनों पेपर देना होते हैं और साथ ही Project भी करना होते हैं। चलिए कोर्स में कौन-कौन से पेपर होते हैं उनके बारे में जानते हैं-

Note- यह तीनों पेपर Compulsory होते हैं.

M1-R4 Tools and Business System.
M2-R4 Internet Technology and Web Design.
M3-R4 Programming and Problem Solving through C language.

Note- इन तीनों मे से कोई एक Choose करना होता है.

M 4.1-R4 Application of .Net Technology
M 4.2-R4 Introduction to Multimedia.
M 4.3-R4 ICT Re

इस तरह से दोनों Semester में कुल 4 पेपर देने होते हैं। इसके अतिरिक्त Practical Theory Papers पर Based होते हैं और Project work Practicals पर Based होते है।

Detailed सिलेबस यहाँ से प्राप्त करें।
DOWNLODE

ओ लेवल कोर्स की परीक्षा प्रणाली – Exam pattern of O level Course

ओ लेवल परीक्षा में निम्न वत परीक्षा प्रणाली का अनुसरण किया जाता है : इसे हमने तीन भागों में बांटा है 1. टाइम टेबल, 2. प्रवेश पत्र 3. रिजल्ट

♦टाइम टेबल – Time Table 

जैसा कि मैंने आपको बताया था यह सेमेस्टर सिस्टम Based Exam है जो कि साल में दो बार होती है जनवरी और जुलाई में । दोनों ही सेमेस्टर एग्जाम  के लिए आपको अलग-अलग apply करना पड़ता हैं। आप 1 दिन में दो पेपर के लिए भी इस exam में apply कर सकते हैं।

हर पेपर के apply के लिए आपको एग्जाम फीस देनी होती है जिसके लिए आप NIELIT की वेबसाइट पर देख सकते हैं। एग्जाम पास करने के बाद ही आप practical exam और Viva के लिए apply कर सकते हैं।

♦प्रवेश पत्र – Admit Card 

O Level Course की Exam का Institute level पर कराया जाता है जिसमें आप परीक्षा के लिए apply करते समय अपनी सहूलियत के अनुसार choose कर सकते हैं। Exam fees जमा करने के कुछ देर बाद ही आप का आधिकारिक वेबसाइट पर प्रवेश पत्र उपलब्ध हो जाता है परीक्षा में शामिल होने के लिए आपको प्रवेश पत्र और फोटो युक्त पहचान पत्र (Voter ID, driving licence  etc.) ले जाना अनिवार्य होता है।

♦रिजल्ट – Result 

Exam देने के 2 महीने बाद रिजल्ट घोषित कर दिया जाता है जिसे आप NIELIT की वेबसाइट पर जाकर डाउनलोड कर सकते हैं अगर आपने एग्जाम किसी Institute के द्वारा दिया है तो आप अपने Institute में जाकर अपना रिजल्ट देख सकते हैं। इसका रिजल्ट आपके Online Exam पर Based होता है।

इसमें Result Grading System के आधार पर दिया जाता है। 50% से कम नंबर लाने वाले Students को अनुत्तीर्ण समझा जाता है। इस एग्जाम में Practical और Project Number को Count नहीं किया जाता है लेकिन O level Certificate हासिल करने के लिए आपको Practical Exam और Project पास करना भी Compulsory होता है।

Sl. Marks Scored Grade to be awarded
1. Below 50% F (Failed)
2. 50% – 54% D
3. 55% – 64% C
4. 65% – 74% B
5. 75% – 84% A
6. 85% & above S

ओ लेवल पेपर पेटर्न – Paper Pattern of O level Course 

O level exam 2 तरह से होता है , Theory और Practical.

O Level Course में आपको 4 Papers देने होंगे। प्रत्येक पेपर में 2 भाग होते है Part 1 And Part 2. आपको 40 Questions OMR Sheet पर Solve करना होंगे। जिसके लिए 1 घंटे का समय दिया जाता है। इसी प्रकार Exam का यह Part 40 Marks का होता है जिसमें पास होने के लिये आपको 50% Marks लाने आवश्यक होते हैं।

Part 2 में आपको 60 Questions Solve करने को दिए जाते हैं। यह पेपर White Sheet पर Solve करना होंगे इसके लिए आपको 2 घंटे का समय मिलेगा। 60 Marks के इस Part में भी पास होने के लिए आपको 50% Marks लाना आवश्यक है।

O Level की 4 Paper में पास होने के बाद ही आप Practical Exam के लिये Apply कर सकते है। O Level Practical एग्जाम भी 2 Part में होते है.

Part 1, 80 Marks का होता है जो Computer पर Online होता है। Part 2 Viva का होता है जो 20 Marks का होता है इस तरह 100 Marks का Practical होता है।

ओ लेवल कंप्यूटर कोर्स के फायदे – Benefits of O level Computer Course in Hindi

इस कोर्स को करने के बाद आपको बहुत सारे फायदे (O Level ke Fayde) मिल सकते हैं –

♦क्योंकि यह एक Diploma Course है तो अगर आप किसी government job के लिए apply करते हैं और वहां आपसे कंप्यूटर कोर्स का सर्टिफिकेट मांगा जाता है तो आप वहां पर Apply कर सकते हैं।

♦Diploma और Advanced Diploma की Vacancy में O और A level Certificate Holder भी Apply कर सकते हैं।

♦किसी भी प्राइवेट job में आजकल Computer knowledge को सबसे ऊपर रखा जाता है यह कोर्स करने के बाद आप किसी प्राइवेट job में आसानी से apply कर सकते हैं। किसी भी Computer Based job आप आसानी से  हासिल कर सकते हैं O Level Certificate के द्वारा।

♦चूंकि इसमें आपको वेबसाइट बनाना की बेसिक जानकारी भी सिखाया जाता है तो आप अपनी Skil को और मजबूत करके खुद का वेबसाइट डिजाइनिंग बिजनेस शुरू कर सकते हैं.

♦कोर्स करने के बाद आपको इंटरनेट की अच्छी खासी जानकारी मिल जाती है आप Freelancer के तौर पर भी दूसरों के लिए online and offline काम कर सकते हैं.

ओ लेवल के बाद क्या करें – O Level ke Bad Kya Kare ?

प्रिय विद्यार्थियों, यदि आप O level Certificate Holder हो जाते हैं तब आपको कंप्यूटर के विषय में अच्छी खासी जानकारी हो जाती है. अतः आप बहुत सी नौकरियां में काम कर सकते हैं जैसे : Computer Operator, Computer Lab Assistant, Assistant Programmer इत्यादि. यदि आप बिजनेस करने के इच्छुक हैं तो आप अपना स्वयं का Computer Institute खोलकर, लोगों को कंप्यूटर की बेसिक सिखा सकते हैं.

यदि आप कंप्यूटर में और आगे महारत हासिल करना चाहते हैं तो आप Higher studies in Computers science मैं भी जा सकते हैं. इसके लिए आप B.Tech, BCA, BSC (CS) मैं भी एडमिशन ले सकते हैं.

♦Conclusion♦

तो दोस्तों पूरा लिख पढ़ने के बाद अब आप का Feedback जानना चाहते हैं. कृपया कर कमेंट के माध्यम से अपने विचार जरूर रखें. यदि आपके पास कोई ऐसा प्रश्न है जिसका जवाब आपको यहां नहीं मिला वह अवश्य पहुंचे. यदि आपको हमारा यह जानकारी पूर्ण लेख “ओ लेवल कोर्स क्या है ? – सिलेबस, फीस और एग्जाम पैटर्न की पूरी जानकारी” पसंद आया हो तो अपने मित्रों के साथ SHARE करना ना भूले.

- Advertisement -
Editorial Teamhttps://multi-knowledge.com
आप सभी पाठकों का हमारे ब्लॉग पर स्वागत है। Editorial Team लेखकों का एक समूह है; जो इस ब्लॉग पर पाठकों के लिए महत्वपूर्ण और जानकारी से भरपूर नए लेख अपडेट करता रहता है। मल्टी नॉलेज टीम का उद्देश्य डिजिटल इंडिया के तहत प्रत्येक विषय की जानकारी उपभोक्ताओं तक मातृभाषा हिंदी में सर्वप्रथम उपलब्ध कराना है। हमारी टीम द्वारा लिखे गए लेख पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Protected
close button