डीएम (District Magistrate) कैसे बने ?

- Advertisement -

डीएम कैसे बने : Friends, हर किसी को सरकारी नौकरियां आकर्षित करती है। हर इंसान चाहता है की सरकारी नौकरी मिल जाये तो उसकी ज़िन्दगी अच्छी हो जाएगी क्यूंकि सरकारी नौकरी में मिलने वाली सुविधाओं से सभी लोग अवगत है। और अगर यह नौकरी किसी बड़े पोस्ट पर हो तो क्या कहने। आज हम डीएम (District Magistrate) कैसे बने विषय पर विस्तार पूर्वक चर्चा करेंगे। यदि आप भी भविष्य में डीएम बनना चाहते हैं तो इसलिए अपने आपको डीएम बनने से संबंधित सारी जानकारी मिलेगी. DM का पद बहुत सम्मानित और Power Full पद होता है और इस पद को बहुत उच्च दर्ज़ा मिला है और डी0एम0 को काफी सारे विशेष अधिकार भी प्राप्त होते है।

यदि आप डीएम बनकर देश की सेवा करना चाहते हैं तो आपके मन में काफी प्रसन्न होंगे जैसे, डीएम कौन होता है? डीएम का क्या कार्य होता है? डीएम कैसे बने? डीएम का फुल फॉर्म क्या होता है? यकीन मानिए यदि आज आप इस लेख को पूरा पाते हैं तो इन सभी प्रश्नों से आप को पूर्णता संतुष्टि मिल जाएगी.

डीएम (District Magistrate) कैसे बने ?
डीएम (District Magistrate) कैसे बने ?

कौन होता है डीएम या District Magistrate?

डी0एम0 को जिला अधिकारी या जिला मजिस्ट्रेट भी कहा जाता है, यह जिले का सर्वोच्च अधिकारी होता है, जिसे जिले का मुखिया भी कहते है। एक जिलाधिकारी या डीएम का मुख्य काम अपने जिले में शांति, सुरक्षा और कानून व्यवस्था को बनाए रखना होता है. इसके अतिरिक्त जिले के सभी विभागों के मुख्य अधिकारियों को जिलाधिकारी के मार्गदर्शन में कार्य करना होता है ।

डीएम का फुल फॉर्म क्या होता है?

डीएम का फुल फॉर्म डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट (District Magistrate) होता है. District Magistrate को District Collector भी कहते है। तो आइए अब इस विषय Step by step जानकारी प्राप्त करते हैं.

डीएम के कार्य क्या होते है :

जिला मजिस्ट्रेट या डीएम जिले का मुख्य प्रशासनिक और राजस्व कार्यकारी अधिकारी होता है, डीएम के कुछ कर्तव्य इस प्रकार है-

  • जिलाधिकारी संपूर्ण जिले में कानून व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित कर आता है.
  • जिले में स्थित पुलिस एवं जेल प्रशासन का निरीक्षण कार्य डीएम द्वारा किया जाता है.
  • सरकार को वार्षिक अपराध प्रतिवेदन देना.
  • अधीनस्थ कार्यकारी मजिस्ट्रेटो का निरीक्षण करना.
  • सभी प्रकार की गतिविधियों से मंडल आयुक्त को अवगत कराना.
  • अपराध प्रक्रिया से संबंधित मुकदमो की सुनवाई करना.
  • मृत्युदंड से जुड़े कार्य को प्रमाणित करना.

डीएम कैसे बन सकते है?

सरकारी नौकरी पाना उतना आसान नहीं जितना लगता है इसके लिए काफी तैयारी करनी पढ़ती है। इसमें बहुत अच्छे स्तर की पढ़ाई पड़ती है और खुद को लिखित एवं साक्षात्कार जैसी परीक्षाओं के लिए भी तैयार करना पड़ता है। खासकर उच्च स्तर की सरकारी नौकरियां के लिए तो काफी ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी ।

यूपीएससी द्वारा कराई जाने वाली सिविल सेवा परीक्षा में यदि आप Top Rank लाते हैं तो आपको IAS के लिए चुना जाएगा. IAS के अंतर्गत डीएम की नौकरी आती है.

डीएम बहुत ही सम्माननीय और जिले का सबसे बड़ा प्रशासनिक पद है तो सीधी सी बात है कि डीएम बनना इतना आसान नहीं होगा, लेकिन यह भी निश्चित है कि असंभव कुछ भी नहीं है, आप यदि पूरी मेहनत और लगन के साथ लगेंगे तो अवश्य सफल होंगे. आइए जानते हैं डीएम कैसे बने:

डीएम पद के लिए के लिए पात्रता:

District Magistrate बनने के लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से Graduation पास होना चाहिए। Graduation Pass होने के बाद यहां अपने कॉलेज के दौरान आप डीएम बनने के लिए तैयारी शुरू कर सकते है। जिला मजिस्ट्रेट पद के लिए महिलाएं व पुरुष दोनो ही लोग आवेदन कर सकते है.

डीएम का एग्जाम UPSC द्वारा कराया जाता है. जिसका पूरा नाम Union Public Service Commission है. डीएम बनने के लिए इसके द्वारा कराए जाने वाला Civil Services Exam आपको पास करना होगा.

डीएम बनने के लिए आयु सीमा:

डीएम बनने के लिए प्रत्येक वर्ग के लिए अलग-अलग आयु सीमा निर्धारित है, General वर्ग के लिए आयु सीमा 21 वर्ष से 30 तक होती है। OBC वर्ग के लिए आयु सीमा 21 वर्ष से 33 वर्ष तक रखी गई है और 3 साल की अतिरिक्त छूट दी गयी है। SC/ST वर्ग के लिए 21 वर्ष से 35 वर्ष तक रखी गई है और 5 साल की छूट दी गयी है।

ध्यान रखने योग्य बात यह है कि आपको यह निश्चित Attempt मिलते हैं, सामान्य वर्ग (Gernal Catogery) के अभ्यर्थियों के लिए सिर्फ 6 Attempt मिलते हैं जबकि पिछड़े वर्ग (OBC Catogery) के अभ्यर्थियों के लिए के लिए 9 Attempt मिलते हैं. SC/ST के उम्मीदवार 37 वर्ष की आयु तक यह एक परीक्षा लगातार दे सकते हैं.

डीएम बनने के लिए Exams:

District Magistrate बनने के लिए आवेदक को UPSC में होने वाली सिविल सर्विस एग्जाम को पास करना होता है, जो 3 चरणों में होती है। आगे तीनों चरणों की परीक्षाओं के बारे में जानकारी दी गई है:
  1. Preliminary Exam (प्रारंभिक परीक्षा)
  2. Main Exam (मुख्य परीक्षा)
  3. Interview (साक्षात्कार)

#1. Preliminary Exam:

यह पहला चरण होता है। UPSC के लिए आवेदन करने के बाद आपको प्रारंभिक परीक्षा पास करना होगी।

#2. Main Exam:

यह परीक्षा का दूसरा चरण होता है। प्रारंभिक परीक्षा में पास होने के बाद आपको मुख्य परीक्षा देनी होती है। जो उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा में पास होते है वह मुख्य परीक्षा में भाग ले पाते है। और यह अंतिम परीक्षा होती है। इसके बाद आपका Interview लिया जाता है।

#3. Interview :

लिखित परीक्षा में पास हो जाने के बाद आपको Interview का सामना करना होता है। जिसमें आपसे कुछ सवाल (बौद्धिक एवं तार्किक) किये जाते है। साक्षात्कार में आप की मनोदशा और Attitude और भी बहुत ध्यान दिया जाता है. । इसके बाद आपका IAS के लिए चयन किया जाता है और आप IAS अधिकारी बन जाते है।

डीएम की सैलरी :

जिला अधिकारी का पद अपने आप में काफी बड़ा और सम्मान में पद है. इसके सामने salary बहुत बेसिक चीज है. फिर भी जानकारी के लिए बता दें कि डीएम की सैलेरी 50,000 – 150000 रुपए तक होती है. इसके अतिरिक्त कई प्रकार के भत्ते भी मिलते हैं. स्वास्थ्य, यात्रा और रहन-सहन जैसी अनेकों सुविधाएं मुफ्त मिलती हैं.

डीएम बनने की तैयारी कैसे करे:

आपको General knowledge and Current Affairs जैसे विषयों पर मजबूत पकड़ बनानी होगी. इसके लिए आप रोजाना Newpaper पढ़ने का कार्य शुरू कर सकते हैं. इसके अतिरिक्त आप इससे संबंधित किताबें भी पढ़ सकते हैं. आपको अपने द्वारा परीक्षा में चुने गए विषय के अनुसार 5th class से लेकर 12th तक की NCRT Books का अध्ययन करना होगा.

Exercise के लिए पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों को हल करके देखें. आप बहुत सी ऑनलाइन वेबसाइट पर monthly mock test series भी jOIN कर सकते हैं आपके लिए काफी यह HELPFUL साबित होगी. Interview stage पास करने के लिए आपको अपना Personality Development और Self Improvement भी करना होगा, जोकि बहुत जरूरी है.

♦Conclusion♦

इस लेख में हम डीएम बनने से संबंधित सभी जानकारी जैसे- डीएम के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए ? डीएम की सैलेरी कितनी होती है? डीएम के क्या कर्तव्य हैं? डीएम बनने की तैयारी कैसे करें ? विषयों पर आपको पर्याप्त जानकारी उपलब्ध कराई है. तो यदि आपको इस विषय पर हमारी द्वारा लिखी गई यह पोस्ट “डीएम (District Magistrate) कैसे बने ?” पसंद आई है OR यदि कोई सुझाव वह तो तो कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं.

यदि आपको यह पोस्ट informative लगी वह तो ऐसे अपने मित्रों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले. आप इसे whatsApp, Facebook और Pinterest जैसे platforms पर शेयर कर सकते हैं.

- Advertisement -
Editorial Teamhttps://multi-knowledge.com
आप सभी पाठकों का हमारे ब्लॉग पर स्वागत है। Editorial Team लेखकों का एक समूह है; जो इस ब्लॉग पर पाठकों के लिए महत्वपूर्ण और जानकारी से भरपूर नए लेख अपडेट करता रहता है। मल्टी नॉलेज टीम का उद्देश्य डिजिटल इंडिया के तहत प्रत्येक विषय की जानकारी उपभोक्ताओं तक मातृभाषा हिंदी में सर्वप्रथम उपलब्ध कराना है। हमारी टीम द्वारा लिखे गए लेख पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Protected
close button