भारत में यातायात के नियम एवं सड़क सुरक्षा चिन्हों का अर्थ

- Advertisement -

प्रिय पाठकों, आपने सड़कों पर चलते हुए सड़क किनारे लगे बहुत से साइन बोर्ड जरूर देखें होंगे। आप उनमें से बहुत से चिन्हों का मतलब जानते भी होंगे, लेकिन बहुत से चिन्ह ऐसे भी होंगे जिनका आज तक आप मतलब नहीं जान पाए होंगे। सड़क यातायात के नियम से संबंधित इस पोस्ट में हम आपको आज कुछ ऐसे ही Traffic signs का मतलब और Traffic Rules  के बारे में बताने जा रहे हैं। प्रत्येक वाहन चलाने वाले व्यक्ति के लिए जानना आवश्यक है।

विषय सूची दिखाएं

यदि आप भी सड़क पर वाहन चलाते हैं और यातायात के नियम (Traffic Rules in Hindi) को जानने में रुचि रखते हैं तो हमारा यह लेख सड़क सुरक्षा के चिन्हों का अर्थ और यातायात के प्रमुख नियम अंत तक जरूर पढ़िए।

सड़क सुरक्षा के चिन्हों का अर्थ  – Traffic signs Meaning in Hindi

आइए एक-एक करके यातायात के चिन्हों (Traffic signs) के नाम और उनका अर्थ जानते हैं :

वन वे (One way)

One way

इस तरह से ‘वन वे’ अक्सर आपको उन सड़कों पर लिखा दिखाई देता है। जहां या तो रोड़ संकरा होता है, या सड़क के दूसरी तरफ किसी तरह का कोई काम चल रहा होता है। ऐसी सड़क पर हमें हमेशा गति नियंत्रण में रखनी चाहिए। साथ ही सामने वाली गाड़ी से उचित दूरी भी बनाकर रखनी चाहिए। कभी भी ऐसी सड़क पर हमें ओवरटेक नहीं करना चाहिए।

ओवरटेक ना करें (Don’t Overtake)

इस तरह से यदि हमें साइन बोर्ड पर लिखा दिखाई देता है, तो इसका मतलब हुआ कि हमें इस सड़क पर ओवरटेक नहीं करना है। ओवरटेक का मतलब अपने सामने वाली गाड़ी से आगे निकलना होता है। अक्सर ओवटेक करने में हादसे हो जाते है। इसलिए हमेशा ओवरटेक तभी करना चाहिए जब आपके सामने वाली गाड़ी की रफ्तार कम हो और सड़क कई लेन की हो। वरना आप हादसे का शिकार हो सकते हैं।

यू टर्न न लें  (Don’t take U Turn)

बहुत से लोग समय और ईंधन बचाने के लिए बीच सड़क से ही कहीं भी यू टर्न ले लेते हैं। लेकिन यदि आपको सड़क किनारे ऐसा बोर्ड लगा दिखाई दे, तो उस सड़क पर यू टर्न ना लें। यू टर्न के लिए आप अगले चौराहे तक जाएं। जहां आसानी से गाड़ी मोड़ी जा सकती है। अचानक यू टर्न लेने से आप तो हादसे का शिकार होंगे ही, साथ ही सड़क पर चल रही दूसरी गाड़ियों के लिए भी आप हादसे का निमंत्रण दे सकते हैं।

अपनी लेन में रहें (Don’t change Lanes)

बहुत सी सड़कें ऐसी होती है, जिनपर बहुत सी लेन बनी होती है। जिससे कि कार, ट्रक, बस आदि अपनी लेन में रहे। लेकिन बहुत से लोग अपनी लेन लगातार बदलते रहते है, जिससे पीछे आ रही गाड़ियों को परेशानी होती है। इसलिए यदि आपको सड़क पर ऐसा बोर्ड लगा दिखाई दे, तो कभी भी बिना जरूरत के अपनी लेन ना बदलें।

नो एंट्री (No Entry)

जब भी सड़क पर कोई हादसा हो जाता है या आगे कोई धरना प्रदर्शन हो रहा होता है, तो पुलिस उस सड़क पर नो एंट्री का बोर्ड लगा देती है। यदि आपके सामने भी ऐसा बोर्ड दिखाई देता है, तो कभी भी उस सड़क पर जबरजस्ती प्रवेश करने की कोशिश ना करें। खासतौर पर तब जब आपके पास चार पहिया वाहन हो। आपको यहां जिस रास्ते से जाने का संकेत हो उसी रास्ते का प्रयोग करें।

स्पीड लिमिट (Speed Limit)

जो सड़कें रिहायशी इलाकों मे से होकर गुजरी होती हैं या उनपर सड़क हादसों का खतरा बना रहता है। वहां पर अक्सर आपको स्पीड लिमिट 50/70/90 लिखी दिखाई दे जाएगी। आपके सामने भी यदि ऐसी कोई स्पीड लिमिट दिखाई देती हैं, तो उस सड़क अपनी गाड़ी कभी भी उस स्पीड से तेज ना ले जाएं।

नो स्टॉपिंग (No Stopping)

पहाड़ पर ढलान के दौरान या किसी ऐसी जगह जहां लूटपाट का खतरा हो। वहां पर इस तरह का बोर्ड दिखाई देगा। इसका मतलब ये हुआ कि यदि आप रूकना चाहते हैं किसी काम से अभी रूक जाएं। आगे आप अपनी गाड़ी नहीं रोक सकते। अक्सर ऐसा देखा जाता है कि ऐसी जगह गाड़ी रोकने पर या तो कोई हादसा या लूटपाट की संभावना रहती है। इसलिए कभी भी अपनी गाड़ी ऐसा संकेत दिखने पर रोके नहीं।

बैल गाडी और हाथ गाडी वर्जित (Bullock Cart, Hand Car Prohibited)

हाइवे आदि पर आपको ऐसा बोर्ड लगा दिखाई दे सकता है। क्योंकि हाइवे पर गाड़ियां बहुत तेज गति से गुजरती हैं। ऐसे में ऐसी सड़क पर कभी बैल गाड़ी, साइकिल, रिक्शा आदि लेकर ना जाएं। यदि आप ऐसा करते हैं, तो पीछे से आ रही कोई बड़ी गाड़ी आपको टक्कर मार सकती है।

ट्रक वर्जित (Truck Prohibited)

बढ़ते प्रदूषण और जाम की समस्या को देखते हुए ट्रक आदि बड़े वाहनों का शहर में प्रवेश वर्जित रहता है। इनकी एंट्री केवल रात में निर्धारित समय के दौरान ही हो सकती है। इसलिए यदि आप ट्रक चलाते है, तो ऐसे बोर्ड को पार ना करें।

हार्न बजाना मना है (Horns Prohibited)

वैसे तो हमें हार्न केवल जरूरत के दौरान ही बजाना चाहिए। इससे सड़क पर पैदल चल रहे लोगों को बहुत परेशानी होती है। लेकिन वीआईपी लोग जैसे कि सीएम, प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति भवन आदि के पास हार्न बजाना वर्जित रखा जाता है। यदि आप साइन बोर्ड को देखने के बाद भी हार्न बजाते है, तो आप पर भारी जुर्माना भी लग सकता है।

पशु चिन्ह (Animals Signs)

कुछ जगह ऐसी होती हैं, जहां सड़क पर ही गौशाला बनी होती है। या अक्सर वहां आवारा पशु घूमते रहते हैं। वहां वाहन चालकों के लिए इस तरह का बोर्ड लगा दिया जाता है, ताकि वाहन चालक सावधानी और धीमी गति से अपना वाहन ले जाएं। आप भी सड़क पर ऐसे बोर्ड दिखने पर सावधान हो जाएं।

साइकिल क्रॉसिंग (Cycle Crossing)

कई जगह ऐसी होती है, जहां साइकिल चालक आसानी से सड़क पार हो सकते हैं। वहां ऐसे बोर्ड लगे होते हैं। जिसका मतलब ये होता है कि वाहन चालक अपनी गति धीमी कर लें।

चट्टानों का गिरना (Falling Rocks)

पहाड़ी इलाकों में आपने कई बार सुना होगा कि चट्टान गिरने से सड़क बंद हो गई। ऐसी सड़कों पर चट्टान गिरने का खतरा हमेशा बना ही रहता है। इसलिए वाहन चालकों को आगाह करने के लिए सड़क पर ऐसे बोर्ड लगा दिए जाते हैं। इसका मतलब ये होता है कि वाहन चाकर सावधानी और हर तरफ देखते हुए वाहन आगे ले जाएं।

काम प्रगति पर है (Men at work)

जब सड़क पर किसी तरह का काम हो रहा होता है, तो उससे पहले ऐसे संकेत लगा दिए जाते हैं। इसका मतलब ये होता है कि आगे मजदूर, कामगार सड़क पर काम कर रहे हैं। आप वाहन सावधानी पूर्वक चलाएं।

फिसलन भरी सड़क (Slippery Road)

जब सड़क पर कोई तेल से भरा टैंक पलट जाता है या सड़क के आस पास कोई तेल का टैंक बना होता है, तो उससे पहले इस तरह का बोर्ड लगा दिए जाता है। ऐसी जगह पर अक्सर वाहन की गति धीमी रखें, साथ ही अचानक ब्रेक ना लगाएं। इससे आपका वाहन फिसल सकता है।

सड़क पर लगी बत्ती के संकेत – Traffic Signal Rules in Hindi

अक्सर आपने रोड पर यात्रा करने के दौरान कई बार अपना समय ट्रैफिक सिग्नल पर बताया होगा, Traffic signal lights रंग के आधार पर महत्व रखती हैं; आइए ट्रैफिक सिग्नल लाइट का अर्थ जानते हैं:

सड़क पर लगी बत्ती के संकेत - Traffic Signal Rules in Hindi

लाल बत्ती (Red light)

लाल बत्ती हमेशा खतरे का सूचक होती है। चौराहे पर यदि लाल बत्ती हुई है, तो आपको ठहरने का संकेत कर रही होती है। जबतक तक हरी बत्ती ना हो जाए आपको गाड़ी आगे नहीं बढानी चाहिए। दिलचस्प बात ये है इस बत्ती का रंग लाल ही इसलिए रखा गया क्योंकि ये रंग दूर से दिखाई दे जाता है और धुंध के दिनों में भी इस रंग का प्रकीर्णन नहीं होता। जिससे वाहन चालक दूर से ही अपने वाहन की रफ्तार कम कर लेते हैं।

पीली बत्ती (Yellow light)

पीली बत्ती केवल हमें सतर्क करने का काम करती है। अक्सर रात के दौरान आपको चौराहों पर पीली बत्ती जलती दिखाई देगी। इसका मतलब ये हुआ कि आप अपने वाहन को कम गति में निकाल सकते हैं। पीली बत्ती होने पर चौराहा पार करते समय पहले हर तरफ देख लेना चाहिए कि किसी तरफ से कोई गाड़ी तो नहीं आ रहो है।

हरी बत्ती (Green Light)

सड़क पर वाहन चालकों की सबसे पंसददीदा ट्रैफिक लाइट इसे ही कहा जाता है। क्योंकि कोई भी चौराहे पर खड़ा होकर इंतजार नहीं करना चाहता। हरी बत्ती का मतलब ये हुआ कि आप सीधे जा सकते हैं। यदि आपको मुडना है तो हरी बत्ती के साथ ही एक और बत्ती भी हरे रंग की होती है।

जो उस सड़क की और संकेत कर रही होती है, जिस तरफ आप मुड सकते हैं। दिलचस्प बात ये है कि इसका रंग हरा इसलिए रखा गया है क्योंकि हरा रंग सबसे कम दूरी से देखा जा सकता है। ऐसे में कई बार वाहन चालक दूर से हरी बत्ती को देखकर अपने वाहन की गति बढ़ा लेते हैं। जो कि कई बार हादसे का कारण बन जाता है।

यातायात के दस प्रमुख नियम – 10 Important Traffic Rules in Hindi

पाठकों, वैसे तो हमारी जिम्मेदारी बनती है कि वाहन चलाते समय हम स्वयं हर प्रकार की सुरक्षा का ध्यान दें, तो यही बेहतर है। यहां हमने कुछ प्रमुख यातायात के नियम (Traffic Rules in Hindi) संकलित किए हैं:

1- लाइसेंस के बिना वाहन ना चलाएं

भारत में ट्रैफिक नियम के मुताबिक कोई भी 18 साल से कम की आयु का व्यक्ति वाहन नहीं चला सकता। इसलिए हमेशा 18 साल की उम्र होने पर पहले लाइसेंस बनवाएं तभी कोई भी वाहन सड़क पर लेकर निकलें।

2- गति सीमा में चलें

हमें कभी भी इस बात का ध्यान नहीं देना चाहिए कि केवल स्पीड लिमिट का बोर्ड दिखने पर ही गति धीरे करनी है। हमें इस बात का हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि आपकी गाड़ी हमेशा काबू में रहे। इससे आधिक गति कभी ना बढ़ाएं।

3- सड़क पर वाहनों की होड़ ना लगाएं

ऐसा देखा जाता है कि बहुत से लोग जोश में आकर दूसरे वाहनों से होड़ लगाने लगते हैं। जो कि कई बार जानलेवा साबित हो जाता है। सड़क भले ही खाली क्यों ना पड़ी हो, पर कभी भी सड़क पर वाहनों से होड़ ना लगाएं।

4- दो पहिया वाहन चलाते समय हेलमेट अवश्य पहनें

सड़क पर मोटरसाइकिल या स्कूटर चलाते समय हेलमेट का प्रयोग अवश्य करें। इससे आप कभी भी यदि हादसे का शिकार हो जाते हैं, तो आपके सिर पर गंभीर चोट नहीं आएगी। बहुत से लोग ये सोचकर हेलमेट नहीं लगाते कि उन्हें तो अच्छे से गाड़ी चलानी आती है। आप कभी भी ऐसी गलती ना करें, क्योंकि आपको भले ही गाड़ी चलानी आती है। परन्तु सामने वाले का तो नहीं पता।

5- आपातकालीन वाहन को पहले रास्ता दें

यदि वाहन चलाते समय आपके पीछे कोई एम्बुलेंस, दमकल का वाहन, पुलिस की गाड़ी आ रही है, तो हमेशा उसे पहले रास्ता दें। ऐसा ना करने पर आप पर जुर्माना भी लगाया जा सकता है।

6- हाथ के सिग्नल का भी प्रयोग करें

कई बार भीड़ भाड़ या जाम की स्थिति होने पर लोग इंडिगेटर नहीं देख पाते। ऐसे में आप मुडते समय या किसी दूसरी गाड़ी को हाथ के माध्यम से भी संकेत दे सकते हैं। जो कि ज्यादा प्रभावी रहता है।

7- गलत जगह वाहन कि पार्किंग ना करें

कभी भी अपने वाहन को बिना सही जगह देखे ना खड़ा करें। इससे दूसरे वाहनों और राहगीरों को परेशानी होती है। कई बार तो आपकी गलत पार्किंग की वजह से सड़क पर जाम की स्थिति भी बन जाती है।

8- वाहन की सर्विस समय पर जरूर करवाएं

अपने वाहन की सर्विस समय पर जरूर करवानी चाहिए। क्योंकि इससे आपका वाहन लंबे समय तक चलता है। साथ ही सर्विस के दौरान वाहन के ब्रैक, क्लच, पहिए आदि अच्छे से चेक कर दिए जाते हैं। जिससे किसी हादसे का खतरा नहीं रहता।

9- कभी भी हैडफोन लगाकर वाहन ना चलाएं

खासतौर पर यदि आप दो पहिया वाहन चलाते हैं, तो हैडफोन का प्रयोग ना करें। इससे आपका सड़क से ध्यान भटक जाता है और आप किसी हादसे का शिकार हो सकते हैं। साथ ही कभी भी वाहन चलाते समय फोन पर बातचीत भी ना करें। यदि किसी से जरूरी बात करनी है तो पहले वाहन को साइड में लगाएं फिर बात करें।

10- हार्न और लाइट बेवजह ना जलाएं

बहुत से लोग हार्न सड़क पर बेवजह ही बजाते चलते हैं। जो कि आम लोगों को परेशान करता है और इससे ध्वनि प्रदूषण भी बढ़ता है। इसलिए हमेशा जरूरत होने पर ही हार्न बजाएं। साथ ही बहुत से लोग बिना जरूरत के भी इंडिगेटर या हैडलाइट जलाएं रखते हैं। इसलिए जब भी आप गाड़ी चला रहे हों, इस बात का विशेष ध्यान रखें कि आपकी कोई लाइट बेवजह तो नहीं जल रही। इससे आपके पीछे आ रहे वाहन को समझने में परेशानी होती है।

आज आपने क्या सीखा):-

प्यारे पाठको, आपने हमारी इस यातायात नियमों की जानकारी से जुड़ी इस पोस्ट में जाना कि सड़क पर कौन से साइन बोर्ड का क्या मतलब होता है; साथ ही यातायात के प्रमुख नियम कौन से हैं। ट्रैफिक सिग्नल चार्ट को जानने के बाद हमें आशा है, कि आप अब यातायात के नियमों की जानकारी हासिल कर चुके होंगे।

Traffic Rules in Hindi पर आधारित इस लेख को पढ़ने के बाद हम आपसे आशा करते हैं कि आप अपने जीवन में  यातायात के सभी नियमों का पालन भी जरूर करेंगे। Traffic Rules आपकी सुरक्षा के साथ सड़क पर चल रहे दूसरे लोगों के सफर को भी आसान बनाते हैं।

यदि वास्तव में हमारा यह लेख आपको जानकारी से भरपूर लगा तो इसे अपने मित्रों, साथियों के साथ SHARE अवश्य करें।

- Advertisement -
Editorial Teamhttps://multi-knowledge.com
आप सभी पाठकों का हमारे ब्लॉग पर स्वागत है। Editorial Team लेखकों का एक समूह है; जो इस ब्लॉग पर पाठकों के लिए महत्वपूर्ण और जानकारी से भरपूर नए लेख अपडेट करता रहता है। मल्टी नॉलेज टीम का उद्देश्य डिजिटल इंडिया के तहत प्रत्येक विषय की जानकारी उपभोक्ताओं तक मातृभाषा हिंदी में सर्वप्रथम उपलब्ध कराना है। हमारी टीम द्वारा लिखे गए लेख पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Protected
close button