क्रेडिट कार्ड क्या होता हैं ?

- Advertisement -

What is Credit Card in Hindi – वर्तमान में हमारा देश दुनिया के उन देशों में अपना नाम शामिल कर रहा है; जहां सबसे बेहतरीन बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध है। लेकिन काफी बैंकिंग सुविधाएं ऐसी भी हैं, जिनके बारे में अभी लोगों को पर्याप्त जानकारी नहीं है। ऐसी ही एक Service क्रेडिट कार्ड है, जो भारत में अन्य देशों के मुकाबले काफी कम उपयोग की जाती हैं। बहुत से लोग आज भी नहीं जानते कि Credit Card Kya Hota Hai और इसी वजह से वह Credit Card उपयोग भी नहीं करते।

विषय सूची दिखाएं

शायद आप भी क्रेडिट कार्ड क्या है, इसके फायदे और नुकसान के बारे में पर्याप्त नहीं जानते हैं, इसलिए ही इस लेख पर आए हैं, किंतु अब निश्चिंत हो जाइए; यहां हम इस लेख में आपको क्रेडिट कार्ड से संबंधित आपके सभी प्रश्नों जैसे –  क्रेडिट कार्ड क्या होता है, क्रेडिट कार्ड के क्या फायदे हैं, क्रेडिट कार्ड के क्या नुकसान है, और क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं इत्यादि का जवाब सरल और आसान शब्दों में देंगे।

जानिए क्रेडिट कार्ड क्या होता है - Credit Card Kya Hota Hai

आपका सबसे मुख्य प्रश्न Credit card Kya Hota Hai आइए जानते हैं:

क्रेडिट कार्ड क्या होता हैं ?

Credit Card वित्तीय संस्थाओं के द्वारा प्रदान किया गया एक कार्ड होता हैं जिसका इस्तेमाल करते हुए Pre Approved Limit तक फंड उधार लेकर भुगतान किया जा सकता हैं।

About Credit Card in Hindi

सरल भाषा मे जिस तरह से Debit Card के माध्यम से, आप भुगतान करते हो, उसी तरह से क्रेडिट कार्ड के माध्यम से भी कर सकते हो; लेकिन डेबिट कार्ड में, केवल आपके बैंक में उपलब्ध पैसो के माध्यम से भुगतान किया जाता हैं; जबकि क्रेडिट कार्ड के मामले में ऐसा कुछ नहीं होता।

Credit Card से भुगतान करते वक्त आप एक तरह से लोन लेकर भुगतान करते हो। क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हुए की गयी सभी भुगतान किसी एक निश्चित दिन को ब्याज सहित आपके बैंक अकाउंट से काटी जाती हैं या फिर आपको खुद उसका भुगतान करना पड़ता हैं। आप जिस भी वित्तीय संस्था के माध्यम से क्रेडिट कार्ड जारी करवाते हो, वह संस्था आपका क्रेडिट स्कोर और क्या आपकी Finance History चेक करती है और उसी के अनुसार भुगतान करने के लिए आपकी एक limit सेट की जाती है।

क्रेडिट कार्ड के माध्यम से जब भी आप भुगतान करते हो तो पैसा आपकी Pre-approved limit से काटा जाता है; जबकि डेबिट कार्ड में भुगतान करने पर पैसा सीधे आपके अकाउंट से कटता है। ऑनलाइन ट्रांजेक्शन वाली प्रत्येक जगह, जहा पर Credit Card स्वीकार किये जाते हैं; वहां इसके माध्यम से भुगतान किया जा सकता हैं।

क्रेडिट कार्ड में समय से बिल भुगतान ना करने पर, बिल के साथ, वित्तीय संस्था के द्वारा लगाए जाने वाले जुर्माने का भुगतान करना होता हैं। जुर्माने की राशि प्रत्येक बैंक के हिसाब से अलग-अलग होती है।

आशा करते हैं कि Credit card Kya Hota Hai, आपको समझ आ गया होगा। अब अपने क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं, इस बारे में जानेंगे।

क्रेडिट कार्ड के प्रकार

क्रेडिट कार्ड किसी भी व्यक्ति के लिये वाकई में काफी बेहतरीन और फायदेमंद सुविधा हैं। सुविधाओ और उपयोग के स्तर के अनुसार क्रेडिट कार्ड के कुछ प्रकार (Types of Credit Card in Hindi) होते हैं, जो कुछ मुख्य इस तरह हैं:

ट्रेवल क्रेडिट कार्ड (Travel credit card)

क्रेडिट कार्ड के बारे में खास बात यह होती है कि इससे भुगतान करने पर पैसे जमा डिस्काउंट मिलता है। अगर आप ट्रेवल के शौकीन हैं तो आपको ट्रेवल क्रेडिट कार्ड बनवा लेना चाहिए। एयरलाइन टिकट, बस टिकट, रेल टिकट आदि बुक करने में, कैब और टैक्सी आदि बुक करने में और साथ ही होटल्स आदि बुक करने में भी इस प्रकार की क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल किया जाता है।

ट्रेवल क्रेडिट कार्ड में हर तरह के भुगतान पर Reward Points मिलते हैं जिनकी मदद से अगले भुगतान पर छूट प्राप्त की जा सकती है।

फ्यूल क्रेडिट कार्ड (Fuel credit card)

अगर आप पेट्रोल और डीजल आदि की बढ़ती हुई कीमतों से परेशान हो तो आपको भुगतान करने के लिए फ्यूल क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना चाहिए। फ्यूल क्रेडिट कार्ड एक ऐसा क्रेडिट कार्ड होता है जिसके माध्यम से आप विशेष रूप से फ्यूल आदि का भुगतान कर सकते हैं और इस पर Reward Points प्राप्त कर सकते हो।

Fuel Credit Card में मील हुए Reward Points से आप अगले भुगतान पर छूट प्राप्त कर सकते ही यानी कि अगर ऑफर भर फ्यूल के भुगतान के लिए अपने फ्यूल क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करोगे तो इसमें आपकी काफी बचत हो जाएगी।

रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड (Rewards credit card)

रिपोर्ट रिपोर्ट कार्ड दुनिया में सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले क्रेडिट कार्ड्स में से एक होते हैं जिनके द्वारा एक अच्छा सा से लिमिट तक भुगतान किए जा सकते हैं और हर भुगतान पर कुछ रिवॉर्ड पॉइंट मिलते हैं।

रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड में इन रिवॉर्ड पॉइंट्स का इस्तेमाल अगले भुगतानों को सस्ता बनाने के लिए किया जा सकता हैं। दरअसल इस प्रकार के Card से कलेक्ट हुए रिवॉर्ड पॉइंट से आपको भुगतानों में छूट मिलती है जिससे कि आप अच्छी खासी बचत कर पाते हो।

शॉपिंग क्रेडिट कार्ड (Shopping credit card)

अगर आप शॉपिंग करने के शौकीन हो और उन लोगो मे से एक भी हो जो शॉपिंग में हर प्रकार की छूट का आनंद लेना पसंद करते हैं तो इसके लिए शॉपिंग क्रेडिट कार्ड सबसे भुगतान बेहतरीन विकल्प होता है। किसी भी तरह की ऑनलाइन और अधिकतर ऑफलाइन शॉपिंग के लिए शॉपिंग क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हुए भुगतान किया जा सकता है।

प्रत्येक भुगतान पर हमें कुछ रिवॉर्ड पॉइंट मिलते हैं और उन रिवॉर्ड पॉइंट से हम शॉपिंग पर अच्छी खासी छूट प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा इस प्रकार की क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने पर काफी सारे ऑनलाइन ई-कॉमर्स पोर्टल विशेष छूट भी देते हैं।

सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड  (Secured credit card)

इस प्रकार की क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल यूजर के द्वारा अपने क्रेडिट स्कोर को बढ़ाने के लिए किया जाता है और कभी कोई विशेष काम आने पर ही इन क्रेडिट कार्ड्स के माध्यम से भुगतान किया जाता है। इस प्रकार के क्रेडिट कार्ड में एक फायदा यह भी होता है कि यह काफी कम ब्याज दर चार्ज करता है और इसमें भुगतान करने के लिए यूजर को अच्छा खासा समय मिलता है।

Types of Credit card जानने के बाद अब हम क्रेडिट कार्ड के फायदों और नुकसान के बारे में जानेंगे।

क्रेडिट कार्ड के फायदे

क्रेडिट कार्ड कई देशों में डेबिट कार्ड से भी ज्यादा उपयोग की जाती हैं। फाइनेंस किस क्षेत्र में रुचि रखने वाले लोगों का यह भी मानना है, कि क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड व अन्य भुगतान सुविधा के मुकाबले अधिक फायदेमंद होता है। क्रेडिट कार्ड के फायदे क्या हैं (Benefits of credit card in Hindi), आइए जानते हैं :

  1. क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हुए किसी भी प्रोडक्ट या सर्विस के लिए भुगतान करने पर अमाउंट आपके बैंक से नहीं काटा जाता, बल्कि आपकी प्री अप्रूव्ड लिमिट से काटा जाता है; जिससे कि बैंक में जमा राशि पर कोई फर्क नहीं पड़ता।
  2. क्रेडिट कार्ड का एक फायदा यह भी है कि, यह आपका क्रेडिट स्कोर बढ़ा सकता है। जिसकी वजह से आप को बैंक से आसानी से लोन मिल सकता है। अगर आप क्रेडिट कार्ड के बिल सही समय पर चुकाते हैं और अच्छा क्रेडिट स्कोर बना लेते हैं, तो बैंक आपको आसानी से लोन दे देगा।
  3. क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने के बारे में एक खास बात यह भी है कि अधिकतर मामलों में इस से भुगतान करने पर आपको रीवार्ड पॉइंट और कैशबैक मिलते हैं, जो डेबिट कार्ड से किए जाने वाले भुगतान से अधिक बेहतर हैं। इसमे आपकी कुछ बचत हो जाती हैं।

क्रेडिट कार्ड के नुकसान

किसी भी चीज के फायदे के साथ नुकसान भी होते हैं। क्रेडिट कार्ड वाकई में एकअच्छी सुविधा है, लेकिन क्रेडिट कार्ड के कुछ नुकसान (Disadvantages of Credit card in Hindi) भी है, जो कुछ इस प्रकार हैं:

  1. क्रेडिट कार्ड में काफी सारी हिडेन चार्जेस और फीस हो सकते हैं; जिनके बारे में लोगों को पता भी नहीं रहता, लेकिन उनका भुगतान ग्राहक के द्वारा बिल में जोड़कर लिया जाता है।
  2. अगर आप क्रेडिट कार्ड से भुगतान करते हो और अपने बिल का लेट पेमेंट करते हो तो इसके लिए आपको वित्तीय संस्था को लेट फीस देनी होती है। साथ ही ऐसे मामलों में आप पर ब्याज भी बढ़ता है।
  3. जिस तरह से क्रेडिट कार्ड आपके सिबिल स्कोर को बढ़ा सकता है, उसी तरह से घटा भी सकता है, यानी कि अगर आप समय पर बिलों का भुगतान नहीं करते तो, आपका सिबिल स्कोर कम होता हैं, जो बैंक से लोन प्राप्त करने की कोशिश में एक बड़ी समस्या बन सकता हैं।

आसानी से क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाये ?

वैसे भारत में तो वर्तमान में क्रेडिट कार्ड का उपयोग डेबिट कार्ड व अन्य कई सुविधाओं के मुकाबले थोड़ा कम किया जाता है लेकिन अगर आप इसका उपयोग करना चाहते हो तो बता दें कि इसे बनवाने की प्रक्रिया काफी आसान है। सबसे पहले आपको किसी भी ऐसी वित्तीय संस्था/बैंक में अपना अकाउंट खोलना होगा जो क्रेडिट कार्ड की सुविधा देती हो। अकाउंट खुलवाने के बाद आप निम्न तरीको से क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए आवेदन कर सकते हो:

Online Apply करे :

आज के समय में लगभग सभी बैंकों और वित्तीय संस्था क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड जैसी सुविधाओं को प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन स्वीकार करती हैं। अगर आप आसानी से अपने क्रेडिट कार्ड रिसीव करना चाहते हैं तो उसके लिए आप अपने बैंक या वित्तीय संस्था की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर Credit Card Online Apply के विकल्प से क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

Customer care Number पर कॉल करे :

लपक सालों से सभी वित्तीय संस्थाओं और बैंकों के द्वारा क्रेडिट कार्ड बनवाने हेतु आवेदन करने के लिए कस्टमर केयर पर कॉल करने की सुविधा दी जा रही हैं। आप उसका Credit Card Apply Customer Care Number ढूंढे और उस पर Call करे। Call पर आपसे एजेंट के द्वारा सवाल जवाब पूछे जाएंगे और एक प्रोसेस पुरी की जाएगी जिसके बाद आपका भी तो सफलतापूर्वक पूरा हो जाएगा।

Bank Branch में जाये :

अगर आपको चीजों को ऑफलाइन करना पसंद है तो आप अपने बैंक या वित्तीय संस्था की नजदीकी ब्रांच में जाकर क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए अप्लाई कर सकते हैं। वहां एक अधिकारी के द्वारा आपको फॉर्म दिया जाएगा जिसमें मांग की गई सभी सटीक जानकारी भरनी होगी और रिक्वायर्ड दस्तावेजों की फोटो कॉपी अटेच करनी होगी। इस फॉर्म को जमा करने के बाद आपके ऑफलाइन आवेदन का काम पूरा हो जाएगा।

बिजनेसमैन के लिए क्रेडिट कार्ड होना क्यों जरूरी हैं ?

भारत में लोग सामान्य भुगतानों को उधार के माध्यम से करना पसंद नहीं करते, लेकिन क्रेडिट कार्ड के अपने कई फायदे होते हैं। अगर आप एक बिजनेसमैन हो तो आपको तो क्रेडिट कार्ड जरूर रखना चाहिए, एक बिजनेसमैन के लिए क्रेडिट कार्ड होना क्यों जरूरी हैं, इसके मुख्य कारण कुछ इस प्रकार हैं:

बिजनेस के लिए आसानी से मिलेगा लोन

क्रेडिट कार्ड आपके क्रेडिट स्कोर को बढ़ाने में मदद करेगा जिससे कि अगर आप कभी अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए लोन लेना चाहोगे तो उसमें आपको काफी आसानी रहेगी। बेहतर क्रिकेट स्कोर के साथ बैंक से बिजनेस लोन प्राप्त करना आसान हो जाता है और आप अच्छे खासे अमाउंट का बिजनेस लोन भी प्राप्त कर सकते हैं।

प्री एप्रूव्ड लिमिट से करें बिल भुगतान

अगर आप बिजनेस कर रहे हो तो आपके सामने कई बार ऐसे मौके आते होंगे जब आप को किसी व्यक्ति या कंपनी को भुगतान करना होता होगा लेकिन उस समय आप अपने बैंक से पैसे नहीं कटवाने चाहते होंगे तो ऐसे समय में क्रेडिट कार्ड आपकी मदद कर सकता हैं। क्रेडिट कार्ड की मदद से आप बैंक से बिना पैसे कटवाई भुगतान कर सकते हो और बाद में उस भुगतान के लिये बिल चुका सकते हो।

अतिरिक्त लाभ कमाने का मौका

किसी भी बिजनेस का उद्देश्य अधिक से अधिक प्रॉफिट कमाना होता है ऐसे में अगर आपको भुगतान करते समय कुछ एक्स्ट्रा प्राप्त करने का मौका मिले तो आप उस मौके को क्यों जाने ? क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने पर आपको कई तरह के रिवार्ड्स और कैशबैक मिलते हैं जिससे कि आप भुगतान में अच्छी-खासी छूट प्राप्त कर लेते हो।

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में अंतर

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड दोनो एक जैसे नाम लगते हैं, और जो लोग बैंकिंग के क्षेत्र में अधिक रुचि नहीं रखते हैं वह इन दोनों नामों को लेकर कंफ्यूज हो जाते हैं। कुछ लोगों को तो यह भी लगता है कि क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड एक ही चीज है; लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं हैं। क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में मुख्य अंतर (Difference between credit card and debit card in hindi) कुछ इस प्रकार हैं:

डेबिट कार्ड क्रेडिट कार्ड
क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में सबसे मुख्य अंतर यह है; डेबिट कार्ड से भुगतान करने पर अमाउंट आपके बैंक अकाउंट से काटा जाता है। क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने पर अमाउंट आपकी प्रि-अप्रूव्ड लिमिट से काटा जाता है; जिसके लिए आपको बाद में बिल का भुगतान करना होता।
डेबिट कार्ड के माध्यम से आप आपके बैंक अकाउंट में जितना पैसा होता है, उतने ही पैसों का भुगतान कर सकते हैं क्रेडिट कार्ड के माध्यम से केवल आपके क्रेडिट कार्ड की प्रि-अप्रूव्ड लिमिट की सीमा तक ही भुगतान किया जा सकता है।
डेबिट कार्ड में यह बिल्कुल मुफ्त हैं। इसमें सभी ट्रांजैक्शन बिना किसी फीस के मुफ्त होते हैं। अगर आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हुए कैश निकलवाते हो तो उसमें आपको ब्याज और पैसो को कैश में निकलवाने के लिए ब्याज देना पड़ता है।
डेबिट कार्ड के माध्यम से भुगतान करने पर किसी प्रकार की कोई एक्स्ट्रा फीस नहीं देनी पड़ती। डेबिट कार्ड के उपयोग के लिए आपको कोई ब्याज नहीं देना पड़ता। क्रेडिट कार्ड में कई तरह की हिडन फीस और एक्स्ट्रा चार्ज होते हैं। इसके साथ ही क्रेडिट कार्ड के उपयोग के लिए आपको ब्याज देना पड़ता है।

FAQ – क्रेडिट कार्ड से जुड़े सवाल जवाब

क्रेडिट कार्ड क्या हैं ?

क्रेडिट कार्ड वित्तीय संस्थाओं और बैंकों के द्वारा प्रदान की जाने वाली एक फाइनेंस सुविधा है; जिसका उपयोग करते हुए वित्तीय संस्था के द्वारा तय की गई प्रि-अप्रूव्ड लिमिट के द्वारा ऑनलाइन व ऑफलाइन भुगतान किए जा सकते हैं। क्रेडिट कार्ड से किए गए भुगतान एक तरह से शॉर्ट टर्म लोन होते हैं जिनके लिए आपको कुछ ब्याज सहित भुगतान करना होता हैं।

क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाते हैं ?

क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए आपको आपकी वित्तीय संस्था या फिर आपके बैंक में जाकर उसके लिए आवेदन करना होगा। जिस भी बैंक या वित्तीय संस्था में आप क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करते हो वह पहले आपके क्रेडिट स्कोर और फाइनैंशियल हिस्ट्री देखते हैं और उसके अनुसार आपके क्रेडिट कार्ड की प्रि-अप्रूव्ड लिमिट सेट करके देते हैं।

सबसे अच्छा क्रेडिट कार्ड कौन सा है ?

आज के समय में काफी सारी वित्तीय संस्थाएं क्रेडिट कार्ड की सुविधा प्रदान करती है; लेकिन क्रेडिट कार्ड चुनते समय आपको अपनी आवश्यकताओं का ध्यान रखना होता है। वर्तमान में SBI Credit Card, HDFC Credit Card और Bajaj Finserv जैसे कई बेहतरीन क्रेडिट कार्ड विकल्प मौजूद हैं।

एसबीआई क्रेडिट कार्ड के क्या फायदे हैं ?

SBI Credit Card वर्तमान में भारत में सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले क्रेडिट कार्ड है। अगर SBI Credit Card के फायदों के बारे में बात की जाए तो, यह सबसे लोकप्रिय क्रेडिट कार्ड्स में से एक हैं; इसलिए आपको वित्तीय संस्था पर भरोसा रहेगा और साथ ही ब्याज दर भी कम देनी होती हैं।

अगर मैं क्रेडिट कार्ड बिल जमा ना करू तो क्या होगा ?

अगर कोई व्यक्ति समय पर क्रेडिट कार्ड के बिल जमा नहीं करता है, तो उसे लेट फीस का भुगतान करना होता है और अगर लेट फीस काटकर बिल जमा कराने में ज्यादा देरी हो जाती है, या फिर व्यक्ति बिल जमा ही नहीं करता तो उसके खिलाफ वित्तीय संस्था के द्वारा कानूनी कार्यवाही की जा सकती है।

आज आपने क्या सीखा ):-

Dear Readers हम आपके आपके लिए सदैव जानकारी पूर्ण लेख लाते रहते हैं, इसी संदर्भ में आज हमने आपको क्रेडिट कार्ड क्या होता है ;इस विषय से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपयुक्त लेख के माध्यम से उपलब्ध कराई, जिसमें आपने क्रेडिट कार्ड क्या है, क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं और क्रेडिट कार्ड के फायदे एवं नुकसान इन सभी के बारे में जाना।

हमारा सदैव यह प्रयास रहता है कि हमारे द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी के बाद आपको अन्य किसी ब्लॉग या वेबसाइट पर जाने की आवश्यकता ना हो। अतः हम आशा करते हैं कि क्रेडिट कार्ड क्या होता है (Credit card Kya Hota Hai) यह लेख आपको पसंद आया होगा, यदि आपको यह लेख पसंद आया है तो इससे अपने मित्रों के साथ SHARE करना ना भूले।

- Advertisement -
Editorial Teamhttps://multi-knowledge.com
आप सभी पाठकों का हमारे ब्लॉग पर स्वागत है। Editorial Team लेखकों का एक समूह है; जो इस ब्लॉग पर पाठकों के लिए महत्वपूर्ण और जानकारी से भरपूर नए लेख अपडेट करता रहता है। मल्टी नॉलेज टीम का उद्देश्य डिजिटल इंडिया के तहत प्रत्येक विषय की जानकारी उपभोक्ताओं तक मातृभाषा हिंदी में सर्वप्रथम उपलब्ध कराना है। हमारी टीम द्वारा लिखे गए लेख पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Protected
close button