कंप्यूटर क्या है इसके बारे में बेसिक जानकारी

- Advertisement -

What is Computer in Hindi: आज इस लेख में आपको “Computer Kya hai” इस विषय की जानकारी साधारण सरल और सटीक तरीके से मिलेगी. इस लेख को पढ़ने के बाद कंप्यूटर की बेसिक जानकारी को लेकर आपके सारे Doughts Clear हो जाएंगे जैसे- What is computer in Hindi? What is full form of computer? Types of computer in Hindi? इत्यादि.

साथ ही यहां Definition of computer in Hindi, Genrations of Computer in Hindi, Advantagre of Computer in Hindi, Disadvantage of Computer in Hindi, Application of Computer in Hindi इन विषयों पर भी विस्तार पूर्वक जानकारी मिल जाएगी.

साधारणता Computer Kya hai यह तो सभी लोग जानते हैं की कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है लेकिन यह कंप्यूटर के बारे में पर्याप्त नहीं है अगर आज आप इस Artical को पूरा पढ़ते हैं, तो आपको कंप्यूटर के बारे में सारी बेसिक जानकारी मिल जाएगी. तो आइए इस लेख What is Computer in Hindi को पढ़ते हैं.

what is computer in hindi by multi-knowledge.com
what is computer in hindi by multi-knowledge.com

What is Computer in Hindi (कंप्यूटर क्या है )

दोस्तों कंप्यूटर लैटिन शब्द “कंप्यूट” (Compute) शब्द से बना है जिसका मतलब होता है गणना (Calculation) करना. पुराने समय में कंप्यूटर का उपयोग Calculation करने के लिए होता था लेकिन आज के समय में कंप्यूटर का इस्तेमाल सिर्फ Calculation करने के लिए ही नहीं बल्कि अन्य बहुत से क्षेत्रों में हो रहा है. “संगणक” कंप्यूटर शब्द का हिंदी मतलब है.

Computer पहली ऐसी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो गणना कर सकती है. मानव के अत्याधुनिक सुविधाओं से भरे जीवन में कंप्यूटर का बहुत महत्व है. अतः कंप्यूटर का कार्य क्षेत्र अत्यंत विस्तृत और व्यापक हो गया है तृतीय क्षेत्र के कार्य लगभग कंप्यूटर पर आधारित हो गए हैं.

Computer Kya hai
Computer Kya hai

यदि हमसे कहा जाए कि Computer Kya hai तो साधारण बोलचाल की भाषा में हम कह सकते हैं कि “कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो डाटा को इनपुट के रूप में एक्सेप्ट करता है तथा Data पर Step by Step प्रोसेस करने के बाद उसे Information या आउटपुट में Convert कर देता है”

अगर सरल शब्दों में कंप्यूटर की कार्यविधि को समझा जाए तो “कंप्यूटर Raw Data (audio, video, text, Number, Img) को  Input के रूप में लेकर उस पर Process करने के बाद डाटा को  Output (Information) में बदल देता है और हमें  Result दे देता है”.

Ex: जब हम MS Office मैं किसी Text को टाइप करते हैं और इसके पश्चात Printer की सहायता से उसे Print करते हैं तो यहां कीबोर्ड की सहायता से टाइप किया गया Text इनपुट कहलायेगा तथा कीबोर्ड इनपुट डिवाइस. और प्रिंटर की सहायता से प्रिंट हुई Hardcopy आउटपुट कहलाएगी तथा प्रिंटर आउटपुट डिवाइस. तथा यह घटना जिसके परिणाम स्वरुप हमें HardCopy प्राप्त हुई प्रोसेसिंग कहलाएगी.

यदि कंप्यूटर की परिभाषा कहीं जाए तो “कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जिसका प्रयोग गणना , संकलन, शोध और प्रयोग करने में किया जाता है. कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर द्वारा बनी इकाई या संयोजन है जो डाटा को इंफॉर्मेशन में बदलता है”.

Full form of Computer in Hindi (कंप्यूटर का फुल फॉर्म )

कंप्यूटर शब्द 8 अक्षरों से मिलकर बना है जिसमें प्रत्येक अक्षर का अपना अलग अर्थ है अतः कंप्यूटर शब्द का व्यापक रूप (Full form of Computer) कुछ इस प्रकार है-

C Commonly कॉमनली
O Operated ऑपरेटेड
M Machine मशीन
P Particularly पार्टिकुलरली
U Used for यूज्ड फॉर
T Technical टेक्निकल
E Educational And एजुकेशन एंड
R Research रिसर्च

History of computer in Hindi (कंप्यूटर का इतिहास)

कंप्यूटर के इतिहास की बात करें तो 17 वी शताब्दी से पहले बहुत सी ऐसी डिवाइस थी जिनसे कैलकुलेशन की जाती है लेकिन जिसे पहला कंप्यूटर माना जाता है उस डिवाइस का नाम था “अबेकस”. अबेकस दुनिया का पहला कंप्यूटर था.

बहुत से लोगों ने कंप्यूटर बनाने में अपना योगदान दिया लेकिन Father of computer  “चार्ल्स बैबेज” को कहा जाता है इसका मुख्य कारण यह है कि 17वी शताब्दी से पहले जितने भी कंप्यूटर होते थे उनमें संग्राहक क्षमता (Storage) नहीं होती थी अर्थात उनमें कोई भी चीज स्टोर नहीं जा सकती थी लेकिन 17वी शताब्दी में चार्ल्स बैबेज ने एक ऐसा कंप्यूटर बनाया जिसमें संग्रहण करने की क्षमता थी जो कि कंप्यूटर की एक मुख्य विशेषता है इस कंप्यूटर का नाम डिफरेंस मशीन था यही कारण है कि चार्ल्स बैबेज को Father of computer कहा जाता है. दुनिया में ENIAC प्रथम इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर था.

कंप्यूटर का इतिहास (History of computer in Hindi)
कंप्यूटर का इतिहास (History of computer in Hindi)

Genrations of Computer in Hindi (कंप्यूटर की पीढ़ियां)

निश्चित तौर पर तो नहीं कह सकते कि कंप्यूटर बनाना कब से प्रारंभ हुआ. प्रमाणों के अनुसार यह 17वी शताब्दी से माना जाता है अभी तक Officialy तौर पर कंप्यूटर की 5 पीढ़ियां दिखाई गई हैं जो कुछ इस प्रकार हैं-

  • First Genration (1945-1954)- यह कंप्यूटर की प्रथम पीढ़ी थी जिसका समय के(1945-1954) बीच रहा इस जनरेशन के कंप्यूटर में वेक्यूम ट्यूब टेक्नोलॉजी का उपयोग किया गया था इस टेक्नोलॉजी में कंप्यूटर द्वारा Calculation करना संभव था. यह आम जिंदगी के लिए useful नहीं थी तथा इनका उपयोग बेहद उपयोगी जगहों पर होता था यह खर्च में काफी Costly होते थे और इन्हें चलाने के लिए बिजली की बहुत अधिक मात्रा चाहिए होती थी साथ ही इन्हें रखने के लिए एक कमरे के बराबर जगह चाहिए होती थी जिससे यह आम जिंदगी के लिए उपयोगी नहीं थे. इनकी क्षमता भी इतनी नहीं थी अधिक कार्य करने के साथ साथ यही Heat पैदा करते थे.
  • Secoud Genration (1955-1964)- इस Genration की कंप्यूटर भी Size में बहुत ही बड़े होते थे किंतु यह First Genration के कंप्यूटर से थोड़े छोटे हो गए थे, इन्हें चलाने के लिए भी बिजली की काफी मात्रा चाहिए होती थी इन कंप्यूटरों में ट्रांजिस्टर Technology का उपयोग किया जाता था. यह आम जिंदगी के लिए Comfort नहीं थे
  • Third Genration (1955-1964)- कंप्यूटर की Genration में कंप्यूटर Speed में थोड़े तेज ,Working आसान हो गए .इससे इन्हें काफी भरोसेमंद समझा गया कंप्यूटर की Third Genration में इंटीग्रेटेड सर्किट (आई0सी0) टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाने लगा. जो First And Second Genration की तुलना में काफी तेज थी. इन्हें चलाने के लिए बिजली की मात्रा भी घट गई और यह थोड़े सस्ते हो गए जिससे इनका उपयोग बढ़ने लगा.
  • Fourth Genration (1955-1964)- इस Genration के कंप्यूटर Performance में काफी बेहतर बहुत ही तेज थी .कंप्यूटर की इस Genration में माइक्रोप्रोसेसर टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाने लगा ,इससे इनका Size बेहद छोटा हो गया,अब इन्हें इधर-उधर उठा कर रख सकते थे. यह कंप्यूटर First,Second व Third Genration के कंप्यूटर से काफी तेज थी. यह कंप्यूटर पिछली Genration की कंप्यूटरों की तुलना में काफी सस्ते ब कम खर्च वाले थे.
  • Fift Genration (1955-1964)- इस Genration के कंप्यूटर पिछली Genration की तुलना में काफी Advance हो गए यह Size में काफी Small हो गए जिससे इन्हें बाहर ले जाना भी Comfort हो गया इस Genration की कंप्यूटर में खुद का आई0क्यू0 इस्तेमाल करने की नई टेक्नोलॉजी विकसित की गई ,Fifth Genration के कंप्यूटर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी पर कार्य करते हैं, जो कि एक बेहद Advance टेक्नोलॉजी हैं. वर्तमान के कंप्यूटर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी पर कार्य कर रहे हैं.

Advantagre of Computer in Hindi (कंप्यूटर से फायदे)

वैसे तो हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में Computer एक बहुत ही Important Part बन गया है आजकल का Human अपने ज्यादातर काम कंप्यूटर द्वारा पूरे कर रहा है ऐसे में कंप्यूटर के बहुत सारे Advantage हैं जिन्होंने हमारी जिंदगी को बहुत सरल एवं आसान बना दिया है जिनमें से कुछ Advantage हम बताने जा रहे हैं जो कुछ इस प्रकार है –

  • कंप्यूटर की गति (Speed)- इस बात से तो हम इंकार नहीं कर सकते कि कंप्यूटर कार्य करने में बहुत ही तेज है जो कार्य जो हमें करने में काफी समय लगता है वह सिर्फ मिनटों में कर देता है यह कंप्यूटर का एक बढ़ा फायदा ही है जो हमारे कार्य को बहुत जल्द कर देता है और उसे आसान बना देता है आज के समय में बहुत से कार्य जैसे Internet का इस्तेमाल करके हम सेकंड में कोई भी Question का जवाब ढूंढ सकते हैं कंप्यूटर की गति का एक अच्छा उदाहरण है.कंप्यूटर सिर्फ 1 सेकंड में Millions क्रियाएं कर सकता है.
  • कंप्यूटर की शुद्धता(Accuracy)- कंप्यूटर बिना गलती किए हुए लाखों Calculations सही-सही कर सकता है कंप्यूटर की Accuracy बहुत अधिक है अतः कंप्यूटर कभी भी Mistek नहीं करता है क्योंकि वह एक Machin है गलती सिर्फ मानव करता है अर्थात हम जैसा कंप्यूटर को इनपुट देते हैं हमें वैसा ही आउटपुट मिलता है यदि आउटपुट में कोई Error है तो इनपुट में कुछ ना कुछ गलत जरूर होगा.
  • कई कामों को एक साथ करना (Multi-tasking)- कंप्यूटर एक साथ कई कार्यों को बेहतर से कर सकता है.कंप्यूटर का एक साथ कई कामों को करना बेहद फायदेमंद है ,जबकि हमारे अंदर यह गुण नहीं पाया जाता कि हम एक साथ अधिक कामों को कर सकें. कंप्यूटर एक सेकंड में कई सारी घटनाएं कई सारे रिजल्ट और भी बहुत से काम एक साथ कर सकता है उदाहरण के तौर पर Document transfer के समय हम Music सुन सकते हैं Videos देख सकते हैं कोई भी print कर सकते हैं.
  • कंप्यूटर की संग्रहण क्षमता (Storage Capacity)- कंप्यूटर की Harddisk के अंदर हजारों GB का डाटा बिना किसी Lose के रखा जा सकता है और इसे जब हम चाहे तो देख सकते हैं ,और इस डाटा को एक स्थान से दूसरे स्थान तक भेज भी सकते हैं यह कंप्यूटर का एक बहुत ही बढ़िया फायदा है.
  • कंप्यूटर की कार्य क्षमता(Diligence)- कंप्यूटर कोई भी काम लगातार घंटों तक बिना रुके कर सकता है यह कभी थकता नहीं है. इसे किसी भी प्रकार की कमजोरी या थकान नहीं होती इससे यह कार्य को काफी Long time तक बिना किसी Erorr के करता रहता है ,जो कि कंप्यूटर का एक बड़ा फायदा है.

Disadvantage of Computer in Hindi (कंप्यूटर से नुकसान)

जिस चीज से हमें बहुत से फायदे होते हैं उससे नुकसान भी होते हैं जिस प्रकार कंप्यूटर से हमें कई सारे फायदे हैं उसी प्रकार कई सारी नुकसान है जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं-

  • साइबर क्राइम (Cyber Crime)- आजकल कंप्यूटर का इस्तेमाल करके अपराधी बेहद बड़े गलत कार्यों को अंजाम दे रहे हैं यह सभी साइबर क्राइम के अंतर्गत आते हैं उदाहरण के तौर पर बैंक खातों से पैसों का निकलना. वायरस, मैलवेयर, पासवर्ड चोरी करना, पेमेंट डिटैल्स चुराना, निजी डेटा चुराना आदि नुकसान साईबर हमलों के जरिए आसानी से किए जा सकते है
  • वायरस और हैकिंग (Virus or Hacking)- Virus ऐसे प्रोग्राम होते हैं जो आपके कंप्यूटर के डाटा को नष्ट कर सकते हैं कंप्यूटर के द्वारा Hacking को बढ़ावा मिल रहा है कुछ हैकर आपके कंप्यूटर को करके उसका सारा डाटा ले लेते हैं और फिर आप को Blackmail करते हैं कंप्यूटर के Advance होने के साथ-साथ अपराध भी काफी बढ़ रहे हैं. 
  • बेरोजगारी (Unemployment)- कंप्यूटर के विकसित होने के साथ-साथ मानव जीवन के लिए एक बड़ा खतरा मंडरा रहा है मतलब बेरोजगारों की संख्या बढ़ती ही जा रही है अधिकतर Office ,कार्यालयों में कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जा रहा है, जिससे नौकरियों की संख्या लगातार घटती जा रही है क्योंकि कंप्यूटर एक साथ कई कार्यो को चंद Secounds में कर सकता है जबकि Human ऐसा नहीं कर सकता अतः कंप्यूटर के विकास से Unemployment एक बड़ी समस्या हो रही है.
  • बीमारियों को बढ़ावा (Sickness)- Computer के प्रयोग से मानव बहुत ही स्वस्थ एवं आलसी हो गया है मानव ने Physical Activity करना कम कर दिया है जिससे मनुष्य में फैट, अस्थमा और शुगर व चर्बी रोग जैसी बीमारियां फैल रही है जो कि हमारे के लिए बहुत नुकसानदायक है.
  • समय की बर्बादी (Time Waste)- आजकल के युवा कंप्यूटर पर गेमिंग और सोशल मीडिया का प्रयोग करके अपना काफी समय बर्बाद करते हैं अतः समय की बर्बादी भी कंप्यूटर का एक Disadvantage है हमें कंप्यूटर का प्रयोग आवश्यक कार्य के लिए ही करना चाहिए.

Application of computer in Hindi (कंप्यूटर के अनुप्रयोग)

कंप्यूटर का चित्र इतना विस्तृत हो गया है कि कोई भी कार्य इससे वंचित नहीं रहा है तकनीकी के इस समय में कंप्यूटर इंसान के लिए भगवान जैसा हो गया है प्रत्येक कार्य इसकी मदद से सरल और आसान तरीके से किया जा रहा है इसी प्रकार कंप्यूटर के Basic Applications इस प्रकार है-

  • Banking में कंप्यूटर का उपयोग: कंप्यूटर में Banking क्षेत्र में तो एक नई जान ही फूंक दी है. वर्तमान समय में हम मिनट में लाखों का से लेनदेन कर सकते हैं सेकंड में एक खाते से दूसरे खाते में लाखों रुपए भेज सकते हैं.आज के समय में नेट बैंकिंग इतना Popular हो गया है कि अधिकतर लोग बैंक जाना ही नहीं चाहते हैं ,और घर बैठे पैसों का लेनदेन अपने मोबाइल या कंप्यूटर के जरिए करते हैं. बैंकों में भी कंप्यूटर की सहायता से ग्राहकों का बढ़ा Data Safe रखा जा रहा है काम करने की की गति काफी बढ़ गई है ,इससे कह सकते हैं कि कंप्यूटर बैंकिंग के क्षेत्र में एक अहम किरदार निभा रहा है .
  • Education में कंप्यूटर का उपयोग: कंप्यूटर शिक्षा को बेहद आधुनिक बना दिया है अब हम सब देख सकते हैं कि बहुत सारे Online courses एवं कोचिंग Institute जिनकी सहायता से हम घर बैठे अपनी कंप्यूटर पर Education ले सकते हैं चाहे नौकरी Forms हो या कॉलेज के Forms, Notes बनाना हो या Practicl बनाना हो, सारे काम हम अपने घर बैठे कंप्यूटर पर कर सकते हैं.
  • Madical में कंप्यूटर का उपयोग: कंप्यूटर के माध्यम से डॉक्टर अपने पेशेंट की बीमारी उसका नाम बहुत से संबंधित सारा डाटा अपने कंप्यूटर पर रखते हैं जो बेहद आसान है और सालों तक सुरक्षित रखा जा सकता है बहुत से कंप्यूटर सॉफ्टवेयर Madical के क्षेत्र में अपना योगदान दे रहे हैं, बहुत सी बीमारियों का पता लगाना कंप्यूटर के माध्यम से हुआ है. हॉस्पिटल के Maintance में भी कंप्यूटर का बेहद उपयोग है.
  • Cumunication में कंप्यूटर का उपयोग : इस क्षेत्र की तो कंप्यूटर के बिना कल्पना ही करना असंभव है आज हम घर बैठे अपने मित्र अथवा परिवार के लोगों से मीलों दूर वीडियो कॉल, कॉल , और चैट करके बात कर सकते हैं. सेकंड में लोगों को Email भेज सकते हैं, कंप्यूटर Cumunication के क्षेत्र में बहुत अहम किरदार रखता है.
  • E-commerce में कंप्यूटर का उपयोग : वर्तमान समय में ऑनलाइन शॉपिंग एक फैशन ही बन गया है E-Commerce Industry बहुत तेजी से बढ़ रही है जिसे कंप्यूटर की सहायता से चलाया जा रहा है. ई-कॉमर्स के सारे काम ऑनलाइन कंप्यूटर और इंटरनेट की सहायता से हो रहे हैं. अतः कंप्यूटर क्षेत्र में भी अपनी अहम भूमिका निभा रहा है.

Component of Computer in Hindi (कंप्यूटर के मुख्य भाग)

Component of Computer in Hindi
Component of Computer in Hindi

⇒मॉनिटर (Monitor)

यह टीवी की तरह दिखने बानी एक आउटपुट डिवाइस है जिस पर हमारे द्वारा दिए गए इनपुट का आउटपुट देखने को मिलता है TECHNOLOGY के आधार पर यह दो प्रकार के होते हैं-
1-CRT (Cathode Raytube)
2-LCD (Liquid Cristal Display)


की-बोर्ड / माउस (Keyboard / Mouse)

की-बोर्ड इनपुट डिवाइस होता है इसकी सहायता से हम कंप्यूटर को Access एवं Data Entry का काम कर सकते हैं Typewriter की तरह दिखने वाला Device है और इसमें बहुत सारी Key होती हैं जिनमें Alphabate, Number एवं Fuction Key शामिल होती हैं. जब भी हम किसी बटन को दबाते हैं तो कंप्यूटर को एक Input signal मिल जाता है और कंप्यूटर तुरंत उसे Process करके हमें Output result दे देता है

माउस भी एक Input device है इसकी सहायता से हम कंप्यूटर को Access करते हैं माउस की सहायता से हम किसी भी Text को Select या कोई भी Picture Drawing कर सकते हैं इसमें दो बटन होते हैं एक Left और एक Right में तथा तीसरा Rollar होता है जिसकी सहायता से हम पेज को इस Scroll करते हैं.


स्पीकर(Speaker)

Speaker एक Output device है जब भी हम कंप्यूटर में कोई Music file ओपन करते हैं तो वह हमें Speaker पर सुनने को मिलती है इनका उपयोग Multimidia application में, ज्यादातर स्पीकर का प्रयोग गाने सुनने, किसी ऑडियो फाइल को सुनने इत्यादि में किया जाता है.


प्रिंटर (Printers)

जब हमें कंप्यूटर से किसी भी फाइल को Print करके Printsheet निकालना होता है तो हम यह Work प्रिंटर की मदद से करते हैं. प्रिंटर एक आउटपुट डिवाइस हैं. Printer सामान्यता दो प्रकार के होते हैं-
1-Inkjet Printer
2-Laser Printer


हार्डडिस्क (Hard Disk Drive)

यह एक Storage Device है जब हम कंप्यूटर में कोई भी File or image बनाकर उसे Save करते हैं तो वह कंप्यूटर की हार्ड डिस्क में Save होता है और उसी में सुरक्षित स्टोर रहता है. कंप्यूटर के सारे Dats को Store करता है. साधारण भाषा में हार्ड डिस्क कंप्यूटर की मेमोरी होती है.


मदर बोर्ड (Mother Board)

मदरबोर्ड कंप्यूटर सिस्टम का एक बहुत Important part है कंप्यूटर के सारे Electric Components इसी की सहायता से एक्सेस होते हैं और वे सब इसी से जुड़े रहते हैं जैसे Ram, Rom, प्रोसेसर इत्यादि. कंप्यूटर के CPU में लगा मदरबोर्ड कंप्यूटर का सबसे महत्वपूर्ण भाग है.


प्रोसेसर (Micro Processor)

प्रोसेसर लगभग सभी प्रकार के कंप्यूटर जैसे मोबाइल, टेबलेट और लैपटॉप सभी में पाया जाता है. यही कंप्यूटर का एक बेहद खास part है हम कह सकते हैं कि यह कंप्यूटर का मस्तिष्क है, क्योंकि कंप्यूटर में जितनी भी घटनाएं होती हैं वह इसकी नजर में होती है अर्थात कंप्यूटर की सारी घटनाओं को Processor ही Access करता है जब भी हम कोई Input देते हैं तो यह उस पर कुछ कार्य करके हमें उसका Output देता है.


रैम( Random Access Memory)

Ram कंप्यूटर की प्राथमिक मेमोरी होती है और यह कंप्यूटर के Motherboard में लगी होती है इसकी सहायता से कंप्यूटर को कार्य करने के लिए आवश्यक Storage मिलता है.


रोम (Read Only Memory)

जब कंप्यूटर में Booting होती है तब यही मेमोरी काम में आती है इस मेमोरी में सारा BIOS Information रहता है रोम कंप्यूटर में एक चिप की तरह मदरबोर्ड से जुड़ा रहता है.


सी0पी0यू (Central Processing Unit)

सीपीयू0का फुल फॉर्म सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट(Central Proccesing Unit) होता है .यह कंप्यूटर का मुख्य भाग है जब कंप्यूटर को कोई भी डाटा Input के रूप में दिया जाता है तब उस डाटा को Process करके एक नियत Output में Change कर देता है और USER को प्रदान करता है.

♦Conclusion♦

आज आपने इस लेख में कंप्यूटर के विषय में बेसिक जानकारी जैसे Computer Kya hai, कंप्यूटर का इतिहास, कंप्यूटर की फुल फॉर्म, कंप्यूटर के फायदे एवं नुकसान, कंप्यूटर के अनुप्रयोग जैसे टॉपिक पर बहुत कुछ सीखा.

दोस्तों कंप्यूटर में हमारे जीवन को भले ही काफी सुलभ और आसान बना दिया हूं किंतु यह भविष्य के लिए एक बड़ी समस्या बन कर भी उभर सकता है क्योंकि मनुष्य कंप्यूटर और तकनीकी के भरोसे इतना आलसी हो गया है की बनाने की बीमारियों और मानसिक तनाव से गिरता जा रहा है. आप सभी से यही निवेदन है कंप्यूटर का प्रयोग कम से कम समय (आवश्यकतानुसार) के लिए करें.

हम यह उम्मीद करते हैं कि आपको यह लेख पसंद आया होगा और इससे कुछ ना कुछ जानकारी अवश्य मिली होगी यदि आपको यह लेख What is computer in Hindi | कंप्यूटर क्या है ? – बेसिक जानकारी हिंदी में पसंद आया है तो इसे अपने मित्रों के साथ शेयर करना ना भूले.

Must Read:

  • Posts not found

- Advertisement -
Editorial Teamhttps://multi-knowledge.com
आप सभी पाठकों का हमारे ब्लॉग पर स्वागत है। Editorial Team लेखकों का एक समूह है; जो इस ब्लॉग पर पाठकों के लिए महत्वपूर्ण और जानकारी से भरपूर नए लेख अपडेट करता रहता है। मल्टी नॉलेज टीम का उद्देश्य डिजिटल इंडिया के तहत प्रत्येक विषय की जानकारी उपभोक्ताओं तक मातृभाषा हिंदी में सर्वप्रथम उपलब्ध कराना है। हमारी टीम द्वारा लिखे गए लेख पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Protected
close button