पालतू जानवरों के नाम – Pet Animals Name with Picture And Description

- Advertisement -

प्यारे बच्चों, स्वागत है आपका हमारी इस पालतू अथवा घरेलू जानवरों के नाम (Pet animals Name In Hindi and English) सिखाने वाली इस पोस्ट में। अभी अभी आप इंटरनेट पर पालतू जानवरों के नाम (Domestic animals Name in Hindi English) खोज रहे हैं, और यहां आ पहुंचे हैं; लेकिन अब आपको कहीं और जाने की जरूरत नहीं है; क्योंकि हम आपके लिए लाए हैं; सभी पालतू जानवरों के नाम की लिस्ट (All pet Animals Name list in Hindi English) हिंदी एवं अंग्रेजी दोनों भाषाओं में, साथ ही हमने यहां सभी जानवरों के नाम के साथ आकर्षक चित्र (Pet Animals Name with Picture) भी संकलित किए हैं; जिनसे आपको जानवर कैसे दिखते हैं, यह भी आसानी से पता लग जाएगा।

Paltu Janvar ke Naam जानने से पहले आपको यह बता दें कि नीचे सभी सभी पालतू जानवरों के नाम के साथ उनके बारे में संक्षिप्त जानकारी दी गई है; जिससे आपको उस जानवर के बारे में बहुत कुछ जानने को मिलेगा। तो चलिए शुरू करते हैं, Domestic Animals Name के बारे में जानना :

पालतू जानवरों के नाम – Pet Animals Name

  1. भैस – Buffalo (बफैलो) 
  2. गाय – Cow (काऊ)
  3. खच्चर – Mule (मूल)
  4. सूअर – Pig (पिग)
  5. भेड़ – Sheep (शीप)
  6. बकरी – Goat (गोट)
  7. घोड़ा – Horse (हॉर्स)
  8. बैल – Ox (ऑक्स)
  9. गधा  – Ass (अस्स)
  10. कुत्ता – Dog (डॉग)
  11. बिल्ली – Cat (कैट)
  12. बन्दर  – Monkey (मंकी)
  13. खरगोश – Rabbit (रैबिट)
  14. सफेद चूहा – White Rat (वाइट रैट)
  15. तोता  – Parrot (पैरेट) 
  16. कबूतर- Pigeon (पिजन)
  17. बिल्ली का बच्चा –  Kitten (किटेन)
  18. कुत्ते का बच्चा – Puppy (पप्पी)
  19. चूहे जैसा जानवर – Hamster (हम्सटर) 
  20. मुर्गी – Chicken (चिकिन) 

घरेलू जानवरों की जानकारी  – Domestic Animals Information

 Domestic Animals Name in Hindi English

भैस – Buffalo (बफैलो) 
भेंस का परिचय – भैंस एक दुधारू पशु है; यह प्राचीन समय से पालतू पशु है। भैंस मुख्यता भारत के गाँवों में पाई जाती हैं। इसका औसत वजन 140 से 150 किलोग्राम होता है। भैंस का शरीर धूसर काले या फिर गहरे भूरे रंग का होता है। भैंस के शरीर में बहुत कम बाल होते है। इसके लंबे सींग पीछे की ओर 2 मीटर तक निकले एवं ऊपर मुड़े होते है।
 
गाय – Cow (काऊ)
गाय का परिचय – गाय एक महत्वपूर्ण पालतू पशु है। हिन्दू धर्म मे गाय का बहुत महत्व है। गाय के चार पैर होते है और एक पूछ होती है। गाय का रंग काला, भूरा, सफेद और चितकबरा आदि होता है। गाय विश्व के हर देश मे पाई जाती है और इसके दूध का महत्व सर्वाधिक है। विश्व मे लगभग 13 अरब गाय है, प्रत्येक गाय का जीवनकाल अलग-अलग होती है। भारतीय गाय 10 से 15 साल तक जीवित रहती है।
खच्चर – Mule (मूल)
खच्चर का परिचय – यह एक बेसर पशु है; इसका जन्म घोड़े व गधी के मिलन स्वरूप होता है। घोड़ा व गधी दो अलग प्रजाति के है; दोनों के गुणसूत्र आपस मे मिलते है; तब खच्चर पैदा होता है। खच्चर को आमतौर में समान ढोने के काम मे लाया जाता है, यह घोड़े के समान दिखाई देता हैं पर ऊँचाई में कम होता है। खच्चर की औसत आयु 30 से 45 वर्ष तक है, इसका रंग भूरे व रंगहीन होता है।
सूअर – Pig (पिग)
सूअर का परिचय – सुअर एक मांसाहारी, गोबर खाने वाला पशु है। सुअर के चार खुर होते है; सामने के दो खुर बड़े होते है व पीछे बाली दोनों छोटी। सुअर का ऊपरी हिस्सा में कुकुरदंत होता है जो बहुत ही मजबूत होता है। इसका थूथन सामने की ओर लटका रहता है व इसकी चमड़ी मोटी होती है। सुअर का रंग काला व भूरा होता है। इसका जीवन काल 15 वर्ष होती है।
भेड़ – Sheep (शीप)
भेड़ का परिचय – भेड़ एक पालतू पशु है जिसे दूध, ऊन व मांस के लिए पाला जाता है। भारत मे करीब 40 नस्ल के भेड़ पाये जाते है इसका रंग सफेद, काला, रंगहीन, व भूरे आदि रंग का होता है। भेड़ का जीवनकाल 10 से 15 वर्ष होता है। भेड़ के चार पैर और एक पूछ होती है। भेड़ शाकाहारी होती है और पौधे व घास फूस खाना पसंद करती है। भेड़ के के दूध में सर्वाधिक प्रोटीन होता है।
बकरी – Goat (गोट)
बकरी का परिचय – बकरी भेड़ के समान दिखाई देता है। यह एक शाकाहारी व पालतू जानवर है। बकरीपालन दूध और मांस के लिए किया जाता है; साथ ही बकरी से रेशा, चर्म, खाद व बाल प्राप्त होता है। दुनिया मे 300 नश्ल की बकरियां पाई जाती है व भारत मे 20 नश्ल के बकरी पाई जाती है। बकरी की औसत उम्र 15 से 20 वर्ष होती है।
घोड़ा – Horse (हॉर्स)
घोड़ा का परिचय – घोड़ा एक पालतू पशु है; जिसे लगभग 5000 वर्ष पूर्व से मनुष्य पाल रहे है। इसका उपयोग घोड़ा गाड़ियों में चलाने के लिए किया जाता है। दुनिया मे लगभग घोड़े की 160 प्रजातियां पाई जाती है, घोड़े का उम्र 30 से 50 वर्ष तक रहता है। घोड़े की अधिकतम गति 88 किलोमीटर / घण्टे होती है। घोड़ा खड़ा व बैठकर दोनों तरह से सो सकता है और रात में घोड़े का नजर इंसान से भी तेज होता है।
बैल – Ox (ऑक्स)
बैल का परिचय – बैल मुख्य रूप से किसान का घरेलू जानवर है। गाय का बछड़ा बैल होता है। यह हल और बैलगाड़ी खिंचने का काम करता है। महाराष्ट्र में पोला पर्व में बैल (ऋषभदेव) की पूजा भी की जाती है। बैल का वजन 1400 किलो तक होता है। बैल का दो सिंग, एक पूंछ और चार पैर होते हैं, बैल बहुत ताकतवर पशु होता है।
गधा  – Ass (अस्स)
गधा का परिचय – गधा घोड़े के प्रजाति का पशु है, यह घोड़े के समान दिखाई पड़ता है और इसका काम समान ढोने का रहता है, इसका पालन प्रमुखता कुमार व धोबी लोग करते है। गधा आकर में घोड़े से छोटा होता है और इसके कान बड़े होते है। गधे की पूंछ उसके रंग से अलग होती है। गधा एक मंदबुद्धि जानवर है। गधा बारिश से नफरत करता है। यह एक शाकाहारी पशु है। असुरक्षित माहौल से बचने के लिए गधा समूह में रहना पसंद करता है।

Pet Animals Name in Hindi English

कुत्ता – Dog (डॉग)
कुत्ता का परिचय – कुत्ता एक स्तनधारी पालतू प्राणी है। कुत्ता एक सर्वाहारी जानवर है। कुत्ता एक सबसे वफादार पशु होता है; और इंसान का अच्छा मित्र है। कुत्ते की चार पैर, दुकान और पूंछ होती है। कुत्ता औसतन 14 वर्ष तक जीवित रह सकता है। कुत्ते की बहुत सी प्रजातियां हैं जैसे – जर्मन शेफर्ड, बुलडॉग, पग, रॉटविलर, देसी ब्रीड आदि।
बिल्ली – Cat (कैट)
बिल्ली का परिचय – बिल्ली एक पालतू जानवर होती है। इसके चार पैर होते हैं, जो कि बेहद ही फुर्ती से इसे दौड़ने में मदद करते हैं। इसका मुख्य भोजन मांसाहार पर आधारित होता है। यह चूहे, कबूतर और पक्षियों को मार कर खा जाती है। बिल्ली के पास सूंघने और देखने की शाक्ति बहुत तेज होती है। साथ ही ये काले और सफेद के अलावा दूसरे रंग नहीं देख पाती है। यह रात के घने अंधेरे में भी देख सकती है। इसका सामन्यत: जीवन 15 वर्ष तक होता है।
बन्दर  – Monkey (मंकी)
बंदर का परिचय – बंदर एक बेहद खतरनाक जानवर है। इसे सामान्यत: घरों में कभी नहीं रखा जाता। इसमें कूदने की क्षमता होती है, जिसके चलते ये कहीं भी कूद कर चढ और उतर सकता है। हाथ के तलुओं और पैर को पंजों को छोड़कर इसका पूरा शरीर इनके बालों से ढका रहता है। ये फल आदि खाना सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। इन्हें इंसान का पूर्वज भी माना जाता है, क्योंकि बंदरों का DNA इंसान के DNA से 98 प्रतिशत मेल खाता है। हमें कभी भी बंदरों के साथ खिलवाड़ नहीं करना चाहिए।
खरगोश – Rabbit (रैबिट)
खरगोश का परिचय – खरगोश एक बेहद ही प्यारा जानवर होता है। ये भूरे, सफेद और काले रंग में पाया जाता है। लोग इसे घरों में भी पालते हैं। इसकी चार टांगें और एक पूंछ होती है। इसे गाजर खाना सबसे ज्यादा पसंद है। क्योंकि ये शाकाहारी भोजन खाता है। इसके दो दांत होते हैं, जिनके माध्यम से ये खाने की चीजें कुतरता है। ये बहुत ही चंचल होता है। ये पूरे दिन उछल कूद करता रहता है। इसका पूरा शरीर मुलायम बालों से ढका रहता है, जिससे बच्चे इसे बेहद पसंद करते हैं। इसका जीवनकाल 8 से 10 साल का होता है।
सफेद चूहा – White Rat (वाइट रैट)
सफेद चूहा का परिचय – चूहे हमेशा जिन घरों में आ जाते हैं, उस घर को तहस नहस कर डालते हैं। क्योंकि ये कपड़े, तार, सूटकेस कब काट देते है, हमें पता ही नहीं चलता। इनका पूरा शरीर छोटे बालों से ढका होता है। साथ ही इनके चार छोटे छोटे पैर और इनकी एक पूंछ होती है। इनके शरीर में इतनी फुर्ती होती है कि इन्हें हाथ से पकड़ना लगभग असंभव होता है। इसलिए इन्हें हमेशा चूहे दानी में पकड़ा जाता है। चूहे हमेशा बिल्ली से दूर रहते हैं, क्योंकि बिल्ली इन्हें मारकर खा जाती है। ये बेहद ऊचाई से कूद सकते हैं।

पालतू जानवरों के नाम – Paltu Janvar ke Naam

तोता  – Parrot (पैरेट) 
तोता का परिचय – तोते सामान्यत: हरे रंग के पाए जाते हैं। इनकी एक लाल चोच होती है, जो कि बेहद प्यारी होती है। इन्हें लोग पिंजरे में पालकर रखते हैं। हालांकि, तोते को पिंजरे में पालना गैर कानूनी होता है। तोते की खास बात ये है कि इसे गिनती, रंग, इंसानों की पहचान कराई जा सकती है। यानि ये इंसान की तरह ही चीजों को सीख सकता है। इन्हें मिर्च खाना बेहद पहंद है। साथ ही ये अपने भोजन को पंजों में इस तरह फंसा लेते हैं, जैसे इंसान अपने भोजन को अपने हाथ में लेकर खाता है। इनकी उम्र 30 से 70 वर्ष तक होती है।
कबूतर- Pigeon (पिजन)
कबूतर का परिचय – कबूतर ज्यातर सफेद और स्लेटी रंग में पाए जाते है। इनका भोजन बाजरा, गेंहू, दाल आदि होता है। कबूतर पुराने समय में संदेश वाहक का भी काम करते थे। इनकी खास बात ये है कि ये इंसानों की पहचान भी आसानी से कर लेते है। ये ज्यादातर बड़े भवन या खाली पड़ी इमारतों में रहना पसंद करते हैं। इनकी खास बात ये है कि ये हवा में ही उलट पलट सकते हैं। लोग इन्हें घरों में पालतू पक्षी के तौर पर भी रखते हैं।
बिल्ली का बच्चा –  Kitten (किटेन)
किटिन का परिचय – बिल्ली के छोटे बच्चे को किटिन कहते हैं। यह बहुत ही प्यारा और आकर्षक जानवर है। अक्सर लोग इसे अपने घरों में पालते हैं इसकी आंखें चमकदार होती है जो अंधेरे में साफ नजर आती हैं।
कुत्ते का बच्चा – Puppy (पप्पी)
पप्पी का परिचय – पप्पी कुत्ते को छोटे पिल्ले को कहा जाता है। ये बेहद ही प्यारा और लोगों के बीच रहने का शैकीन होता है। लोग इसे पालना खूब पसंद करते है। इसकी चार टांगे और एक छोटी पूंछ होती है। छोटा शरीर होने के चलते ये कहीं भी जाकर बैठ जाता है। बच्चे इसके साथ खेलना खूब पसंद करते हैं। इसका पूरा शरीर बालों से ढका होता है। इसे खाने में दूध और रोटी खूब पसंद होती है।
चूहे जैसा जानवर – Hamster (हम्सटर) 
हम्सटर का परिचय – हम्सटर दिखने में चूहे की तरह लेकिन बहुत प्यारा और आकर्षक जानवर है। बहुत से देशों में लोग इसे पालतू बनाकर रखते हैं। इनमें एक और खूबी होती है; यह भोजन को अपने गालों में भर लेते हैं और भूख लगने पर उसे खाते हैं।
मुर्गी – Chicken (चिकिन) 
मुर्गी का परिचय – मुर्गी आपको लगभग दुनिया के अधिकतर देशों में देखने को मिल जाएगी। यह सफेद काले एवं लाल रंग में मुख्यता पाई जाती है। इसके 2 पैर होते हैं, और सिर पर एक छोटी होती है; जिसे कलंगी कहते हैं। एक मुर्गी 100 से अधिक व्यक्तियों या जानवरों की शक्ल याद रख सकती है।

प्यारे बच्चों, आज आपने क्या सीखा ):-

यहां ऊपर दिए गए सभी पालतू जानवरों के नाम आपको अच्छे लगे होंगे, साथ ही पालतू जानवरों की तस्वीर और उनके बारे में दी गई, जानकारी से आपको जरूर बहुत कुछ सीखने को मिला होगा।

प्रिय बच्चों, पालतू या घरेलू जानवरों के नाम हिंदी और इंग्लिश (Domestic or Pet Animals Name in Hindi English) से संबंधित यह Kids Learning Post आपको कैसी लगी, आप हमें COMMENT के माध्यम से अवश्य बताएं।

इन सभी पालतू जानवरों के नाम, अपने दोस्तों और अपनी Class के अन्य Students के साथ SHARE करें; ताकि वह भी इनके बारे में जान सकें, यदि आपको भी इन सभी के अतिरिक्त कोई जानवर पता है; जो इस लिस्ट में नहीं है, उसे हमें बताएं, हम जल्द ही इसमें जोड़ेंगे।

- Advertisement -
Editorial Teamhttps://multi-knowledge.com
आप सभी पाठकों का हमारे ब्लॉग पर स्वागत है। Editorial Team लेखकों का एक समूह है; जो इस ब्लॉग पर पाठकों के लिए महत्वपूर्ण और जानकारी से भरपूर नए लेख अपडेट करता रहता है। मल्टी नॉलेज टीम का उद्देश्य डिजिटल इंडिया के तहत प्रत्येक विषय की जानकारी उपभोक्ताओं तक मातृभाषा हिंदी में सर्वप्रथम उपलब्ध कराना है। हमारी टीम द्वारा लिखे गए लेख पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Protected
close button